विडंबना:निर्देश के बाद भी समय पर नहीं पहुंच रहे हैं स्वास्थ्यकर्मी, अस्पताल में मरीजाें को हर रोज झेलनी पड़ रही है परेशानी

जामताड़ा9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • वैक्सीनेशन को लेकर लोगों में है उत्साह, लेकिन कर्मी बने हुए हैं लापरवाह
  • इस बाबत बार-बार वरीय पदाधिकारियों को भी सूचना दी गई लेकिन यह ढाक के तीन पात ही साबित हुई

स्वास्थ्य विभाग अपने कार्यक्रमों को लेकर कितना गंभीर है, इसकी बानगी देखना है तो सदर अस्पताल में देख सकते हैं। अभी कोविड-19 महामारी से निबटने के लिए राष्ट्रीय स्तर का कार्यक्रम कोविड वैक्सीनेशन का कार्य किया जा रहा है। वर्तमान में फ्रंटलाइन वर्कर और 45 से 59 साल तक के बीमार तथा 60 व ज्यादा आयु के बुजुर्गों का टीकाकरण किया जा रहा है।

लेकिन इसे विडंबना ही कहिए कि लोग टीका लेने के लिए गंभीर हैं लेकिन स्वास्थ विभाग के कर्मी गंभीर नहीं दिख रहे हैं। जबसे बुजुर्गों का टीकाकरण शुरू हुआ है। बुजुर्गों को तय समय से ज्यादा इंतजार करना पड़ रहा है। इस बाबत बार-बार वरीय पदाधिकारियों को भी सूचना दी गई लेकिन यह ढाक के तीन पात ही साबित हुई है। दैनिक भास्कर ने शनिवार सुबह 9:30 बजे सदर अस्पताल में जाकर कोविड-19 कोरोना जांच शिविर का आंखों देखा हाल जाना।

स्पष्टीकरण मांगा जाएगा

अस्पताल उपाधीक्षक डॉक्टर चंद्र शेखर आजाद ने कहा कि जो भी कर्मी देर से आते हैं उनसे स्पष्टीकरण मांगा जाएगा एवं बुजुर्गों और फ्रंटलाइन वर्कर को अलग-अलग बिठाए जाने की सुविधा दी जाएगी।

खबरें और भी हैं...