पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सफल व्यवसाई:रामाशंकर ने 18 लाख बार लिख दिया राम-राम का नाम

जामताड़ा2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

सच्चे मन से प्रभु श्रीराम का नाम जपने मात्र से ही मनुष्य का कल्याण हो जाता है। राम राम जय श्री राम की धुन से जीवन धन-धान्य हो जाता है। राम नाम जपना किसे अच्छा नहीं लगता मगर कुछ लोग ऐसे हैं जो राम नाम जपने के साथ-साथ राम नाम लिखना भी अपने जीवन का एक हिस्सा बना चुके हैं।

ऐसे ही एक शख्स हैं 64 वर्षीय रामाशंकर शर्मा इन्होंने 3 साल पूर्व राम राम लिखना आरंभ किए थे आज लगभग 18 लाख 52000 बार राम राम लिख चुके हैं और यह सिलसिला लगातार जारी है। शर्मा जी बताते हैं कि लोग खाली हाथ आए हैं और खाली हाथ संसार से चले जाएंगे। आखरी समय सफर में जाने से पहले कुछ तैयारी कर लेना चाहिए।

सफल व्यवसाई रामा शंकर शर्मा ने बताया कि 3 वर्ष पूर्व जबलपुर घूमने गए हुए थे उस दौरान मन में ऐसा ख्याल आया कि संसार में कुछ लेकर आया नहीं कुछ लेकर जाना नहीं तो क्यों ना जीवन के अंतिम पड़ाव में अपने को प्रभु श्रीराम के प्रति समर्पित कर दें। 3 वर्षों में 18,42000 से अधिक बार राम-राम लिख चुके हैं और यह सिलसिला आगे भी जारी है। उन्होंने बताया कि 21 लाख बार राम-राम लिखने का लक्ष्य लिए चल रहे हैं।

खबरें और भी हैं...