विवाद:जनता दरबार में पशुपालन चिकित्सा पदाधिकारी पर पैसा मांगने का आरोप लगाकर की हाथापाई

फतेहपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पशुपालन चिकित्सा पदाधिकारी से उलझते युवक। - Dainik Bhaskar
पशुपालन चिकित्सा पदाधिकारी से उलझते युवक।
  • आगैयासरमुडी में आपके अधिकार, आपकी सरकार, आपके द्वार कार्यक्रम में हुआ हंगामा

प्रखंड क्षेत्र की आगैयासरमुडी पंचायत में आपके अधिकार आपकी सरकार आपके द्वार कार्यक्रम का आयोजन किया गया इस दौरान कुछ युवाओं द्वारा मौजूद पदाधिकारियों को गाली गलौज करने लगे जिससे अफरातफरी मच गई। मौजूद पशुपालन चिकित्सा पदाधिकारी रवि ज्ञानशंकर के साथ दुर्व्यवहार वहां मौजूद युवा परमेश्वर मुर्मू, क्रिस्टोफर मरांडी, रविलाल सोरेन द्वारा किया गया। युवाओं को मना करने पर उत्तेजित युवाओं ने मंचासीन अन्य अधिकारी जिला परिवहन पदाधिकारी, अंचल अधिकारी तथा प्रखंड विकास पदाधिकारी के समक्ष अभद्र व्यवहार किया।

मौजूद आक्रोशित युवाओं ने बताया कि संथाल परगना प्रमंडल पशुपालन विभाग से पांच दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया है। उक्त प्रशिक्षण में वे लोग भाग लेना चाहते हैं। प्रशिक्षण में भाग लेने के लिए वहां के पदाधिकारियों ने कहा कि अपने क्षेत्र के किसी पशु चिकित्सा पदाधिकारी से आवेदन में हस्ताक्षर व मुहर लगवा कर लाए इसके बाद ही प्रशिक्षण कार्यक्रम में भाग ले सकते हैं।

उसी प्रशिक्षण आवेदन फॉर्म में हस्ताक्षर कराने के लिए पशु चिकित्सा पदाधिकारी रवि ज्ञानशंकर के पास पहुंचे थे, मगर उन्होंने हस्ताक्षर करने व मुहर लगाने के एवज में राशि की मांग करने लगे। लगभग आधे घंटे तक शिविर का माहौल अफरा-तफरी का बना रहा। युवाओं के आवेदन पर पदाधिकारी के हस्ताक्षर व मुहर लगाने के बाद गुस्साए युवाओं को शांत कराकर वहां से हटाया गया।

पैसा मांगने का आरोप गलत है : डॉ. रविज्ञान

डॉ. रविज्ञान शंकर से पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि पैसा मागने का आरोप निराधार है। उन लोगों ने मेरे साथ हाथापाई कर दुर्व्यवहार किया गया। इस संबंध में पुलिस से कोई शिकायत नहीं की गई है।

खबरें और भी हैं...