पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

जन्मोत्सव:नटखट मुरली वाले गाेकुल के राजा, मेरी अंखियां तरस गई... अब ताे आजा

जामताड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर मंदिराें में गूंजे भक्ति गीत : मंदिरों को आकर्षक तरीके से सजाया गया, सामाजिक दूरी का पालन करते हुए की गई पूजा
  • बच्चों ने घरों में रहकर श्रीकृष्ण का बाल रूप धारण किया

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी कैथल जिले में धूमधाम के साथ मनाया गया। वहीं कई स्थानों पर कल बुधवार को भी जन्माष्टमी का पर्व मनाया जाएगा। जन्माष्टमी के अवसर पर जहां एक ओर मंदिरों में सुबह से ही पूजा-अर्चना का दौर जारी रहा। वहीं कोविड-19 को लेकर श्रद्धालुओं ने घरों में धूमधाम से भगवान श्री कृष्ण की पूजा अर्चना की।

श्री कृष्ण जन्माष्टमी के मद्देनजर पूर्व के वर्षो में कई स्थानों पर रूप सज्जा प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता रहा है। मगर इस वर्ष कोरोना वायरस को लेकर इस प्रकार की प्रतियोगिता नहीं हुई। मगर बच्चों ने अपने अपने घरों में ही भगवान श्री कृष्ण की रूप सज्जा कर उत्साहपूर्वक जन्माष्टमी का पर्व मनाया।

मंदिरों में भगवान श्रीकृष्ण की प्रतिमा को झूले पर स्थापित कर पूजा-अर्चना की गई पुजारी बबलू तिवारी ने बताया कि जन्माष्टमी का पर्व कई स्थानों पर बुधवार को भी मनाया जाएगा। हालांकि मंगलवार को भी क्षेत्र में काफी उत्साह एवं श्रद्धा भाव से भगवान श्री कृष्ण की पूजा अर्चना की गई। कोरोना वायरस महामारी के कारण मंदिरों में भीड़ की अनुमति नहीं दिया गया। लोग भारी बारिश से पूजा-अर्चना कर लौटे।

इस दौरान मंदिरों को आकर्षक ढंग से विद्युत सज्जा किया गया था। विभिन्न मंदिरों में भजन कीर्तन का भी आयोजन किया गया। श्रद्धालुओं ने भगवान श्रीकृष्ण के जयकारे के साथ हिंदी एवं बांग्ला में भजन प्रस्तुत किए। श्री कृष्ण जन्माष्टमी को लेकर क्षेत्र में भक्ति का माहौल बना हुआ है। लोगों ने आस्था के साथ भगवान श्री कृष्ण की पूजा अर्चना किए। कोरोना के कारण लोगों ने सामाजिक दूरी का पालन करते हुए पूजा की।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- लाभदायक समय है। किसी भी कार्य तथा मेहनत का पूरा-पूरा फल मिलेगा। फोन कॉल के माध्यम से कोई महत्वपूर्ण सूचना मिलने की संभावना है। मार्केटिंग व मीडिया से संबंधित कार्यों पर ही अपना पूरा ध्यान कें...

और पढ़ें