आस्था:श्रद्धा के साथ महिलाओं ने रखा जिउतिया का व्रत

जामताड़ा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिउतिया पर्व जिले में श्रद्धा और भक्ति के साथ मनाया गया। पंचांग के मुताबिक प्रत्येक वर्ष आश्विन मास की कृष्ण पक्ष की अष्टमी को जितिया व्रत किया जाता हैं। सुहागन स्त्रियां ये व्रत रख संतान के हित की प्रार्थना की। ऐसा माना जाता है कि जितिया व्रत करने से संतान की लंबी उम्र होती है।

इस व्रत को जीवित्पुत्रिका और जितिया व्रत भी कहते हैं। माताएं अपनी संतान की लंबी उम्र की कामना कर निर्जला व्रत की। सप्तमी तिथि के दिन नहाए खाए, अष्टमी के दिन जितिया व्रत और नवमी के दिन घर के देवता देवी एवं गुजरे हुए पूर्वजों को पूजा पाठ कर व्रत खोला जाता है।

खबरें और भी हैं...