पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गोविंदपुर में ऑनर किलिंग:अंतरजातीय प्रेम विवाह करने पर गला रेतकर बेटी को मार डाला, 7 महीने पूर्व बेटी ने भागकर रचाई थी शादी, इस कारण बेहद खफा था पिता

झरिया4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बेटी को जमीन दिखाने के बहाने बुलाया और पत्नी के सामने ही कर दी हत्या (खुशी की तस्वीर) - Dainik Bhaskar
बेटी को जमीन दिखाने के बहाने बुलाया और पत्नी के सामने ही कर दी हत्या (खुशी की तस्वीर)

झरिया बर्फकल के रहने वाले सब्जी विक्रेता राम प्रसाद साव ने बुधवार को गाेविंदपुर के बड़ा नावाटांड़ में अपनी बड़ी बेटी 19 वर्षीया खुशी की गला रेतकर हत्या कर दी। घटना काे अंजाम देने के बाद माैके से वह फरार हाे गया। घटना बुधवार की शाम 4:30 बजे की है। राम प्रसाद पत्नी सुनीता के साथ जमीन दिखाने के बहाने बेटी काे बड़ा नावाटांड़ ले गया था। वहां बातचीत के दाैरान पीछे से बेटी का गला काट दिया। माैके पर ही बेटी की माैत हाे गई। घटना के बाद सुनीता झरिया थाना पहुंची और घटना की जानकारी दी।

झरिया पुलिस से सूचना मिलने के बाद रात 9 बजे डीएसपी हेडक्वार्टर अमर पांडेय और गाेविंदपुर थाना प्रभारी सुरेंद्र कुमार सिंह घटनास्थल पर पहुंच कर मामले की छानबीन की। शव का पंचनामा करने के बाद शव थाना लाया गया। घटना का कारण बेटी का अंतरजातीय प्रेम विवाह बताया जा रहा है। पिता इस शादी से बेहद नाराज था और बेटी से संबंध तोड़ लिया था। वह बेटी को शादी करने पर सजा देना चाहता था। इंटर पास खुशी सात माह पहले झरिया में ही रहने वाले करण बाउरी से भागकर शादी रचा ली थी।

शादी करने के बाद खुशी पति के साथ गाेविंदपुर में किराए के मकान में रह रही थी। खुशी गर्भवती थी। करण एक स्थानीय पेट्राेल पंप पर काम करता है। गुरुवार काे पत्नी के जरिए उसने बेटी से मिलने व जमीन दिखाने की इच्छा जताई। गोविंदपुर में पेट्रोल पंप पर ही बेटी से माता-पिता मिले। वहां से पैदल ही जमीन दिखाने ले गए। इसी बीच मौका ताड़ पिता ने गला काटकर बेटी को मार डाला। पत्नी काे इस बात जरा भी अंदेशा नहीं था कि बेटी की पति हत्या कर देगा। वहीं हेडक्वार्टर डीएसपी अमर पांडेय ने बताया कि मामला प्रथमदृष्ट्या ऑनर किलिंग का लग रहा है। पुलिस सभी बिंदुओं पर जांच कर रही है।

हत्या के बाद पति काे पकड़ने का प्रयास किया चीखती-चिल्लाती रही, लेकिन वह भाग निकला

घटना काे अंजाम देने के बाद पत्नी ने हत्यारे पति काे पकड़ने का प्रयास किया। उसके पीछे दाैड़ी भी लेकिन वह पकड़ में नहीं आया। माैके से भागने में वह सफल हाे गया। जिस जगह हत्या की घटना काे अंजाम दिया गया, वहां काफी सुनसान था। बेटी की हत्या के बाद वह राेती-चिल्लाती रही लेकिन किसी ने भी अावाज नहीं सुनी। फिर वहां से वह किसी तरह से निकली। गाेविंदपुर थाना जाने के बजाय झरिया थाना गई। झरिया पुलिस काे सूचना मिलने के बाद गाेविंदपुर पुलिस काे हत्या हाेने की जानकारी मिली।

पुलिस को घटनास्थल दिखाती खुशी की मां।
पुलिस को घटनास्थल दिखाती खुशी की मां।
खबरें और भी हैं...