बकाया:18 पंचायताें में मनरेगा मजदूराें का एक कराेड़ 24 लाख रुपए मजदूरी का भुगतान बकाया

करमाटांड़6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोना के कारण अप्रैल माह में मजदूरी नहीं मिलने से मजदूराें के सामने राेजी-राेटी के पड़े लाले

भास्कर न्यूज| करमाटांड़ मनरेगा मजदूरों को 100 दिन का रोजगार देने का प्रावधान है। अगर मजदूरों को सही समय पर रोजगार नहीं मिले तो मजदूरी भत्ता भी देने का प्रावधान है। राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम केंद्र एवं राज्य सरकार के द्वारा चलाया जा रहा है। योजना के माध्यम से मजदूरों को रोजगार उपलब्ध कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे है।

बीते 1 अप्रैल 2021 से लेकर 28 अप्रैल 2021 तक मनरेगा योजना में कार्य किए करमाटांड़ प्रखंड क्षेत्र के मजदूरों को भुगतान नहीं किया गया है। जिससे मजदूर काफी चिंतित है। बता दें कि मनरेगा मजदूर अधिकतर बीपीएल परिवार की श्रेणी में आते हैं। मनरेगा मजदूरों की स्थिति काफी दयनीय होते हैं। ऐसी स्थिति में लगभग महीना भर तक मजदूरों का मजदूरी भुगतान नहीं किए जाने से उनमें मायूसी देखी जा रही है।

खबरें और भी हैं...