पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अस्पताल की प्रक्रिया:उधारी नहीं देने पर माइनिंग के छात्र की हुई पिटाई, इलाज के दाैरान रांची के रिम्स में माैत

खोरीमहुआ11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

देवरी थाना क्षेत्र के किसगो ग्राम निवासी माइनिंग का छात्र पप्पू मंडल 27 वर्ष के साथ मारपीट के बाद इलाज के दौरान मंगलवार देर रात्रि रांची के रिम्स हॉस्पिटल में मौत हो गई। इधर घटना की सूचना पाकर परिजनों में रो रो कर बुरा हाल हो गया है बताया जाता है कि 13 जुलाई को उसके चप्पल जूते की दुकान पर उधारी नहीं देने के सवाल पर हुई मारपीट के बाद वह गंभीर रूप से घायल हो गया था।

इस संबंध में मृतक पप्पू मंडल की मां दुलारी देवी उम्र करीब 70 वर्ष पति द्वारिका मंडल ने बुधवार को पुलिस शिविर कैंप बरियातू रांची, रिम्स अस्पताल के डॉक्टर अनिल कुमार, पुत्र राम विकास मंडल तथा अपना भतीजा सुरेंद्र नाथ उर्फ कुलानंद महतो ग्राम पलरा थाना जमुआ जिला जिला गिरिडीह की उपस्थिति में बयान दर्ज कराई है। जिसमें कहा गया है कि 13 जुलाई को घर में सामने बने दुकान में मेरा छोटा पुत्र पप्पू मंडल दुकान पर बैठा था

तथा मैं भी वहीं पर बाहर ने खड़ी थी तथा उसके पिता गाय बांधने गए हुए थे। इसी बीच शाम के 5:00 बजे दुकान पर गांव के ही दिनेश रविदास पिता रामेश्वर रविदास आया और चप्पल उधारी में मांगा तो मेरा बेटा ने कहा कि 2 वर्ष पहले का उधारी पैसा बाकी है पहले वह पैसा दो तभी फिर वह उधार में चप्पल देंगे। इसी बात पर दिनेश रविदास काफी गुस्सा में आकर गाली-गलौज करते हुए मारपीट पर उतारू हो गया। यह सुनकर मैं भी वहां समझाने बुझाने लगी लेकिन उसी समय दिनेश का भाई अनिल रविदास पिता रामेश्वर रविदास के अलावे मनोज रविदास, मनोहर रविदास दोनों के पिता मथुरा रविदास भी आ गए और सब लोग मिलकर मेरे बेटे पप्पू मंडल को लात, मुक्का एक थप्पड़ से सिर में छाती में पेट में मुंह में बुरी तरह से मारने लगे।

जब मैं अपने लड़के को बचाने का प्रयास की तो दिनेश रविदास मुझे भी मारा। हल्ला होने पर दौड़ कर जब मेरे पति द्वारिका मंडल वहां आए तब सब लोग वहां से भाग गए। झगड़ा सुनकर वहां गांव के रामनारायण रविदास, प्रकाश यादव, संतोष रविदास रवि कुमार आदि लोग आए। मारपीट में घायल मेरा पुत्र मूर्छित हो गया था फिर पानी डाल कर उसे होश में लाया गया। फिर बगल गांव करिहारी से डॉक्टर संतोष मिश्रा को बुलाकर लाया गया। दवा इलाज कराया गया लेकिन फिर भी उसका तबीयत खराब रहने लगा जब ठीक नहीं हुआ तो फिर से डॉक्टर से पूछने पर बताया कि सिर में चोट लगी है सीटी स्कैन कराना होगा। इसके बाद स्थिति खराब होने के कारण उसका इलाज के लिए गाड़ी की व्यवस्था कर 19 जुलाई 2021 को रात 10:30 बजे के करीब रिम्स अस्पताल में भर्ती करवाया गया।

वहां पर इलाज के क्रम में बुधवार को रात्रि 2:55 बजे उसकी मौत हो गई। मृतक के भाई प्रकाश मंडल व कैलाश मंडल ने बताया कि पप्पू माइनिंग की पढ़ाई पूरी कर ट्रेनिंग भी कर चुका था और बहुत जल्द नौकरी लगने वाली थी। लॉकडाउन के कारण वह घर में रहकर दुकान में सहयोग कर रहा था। यह भी बताया कि रिम्स में पप्पू की मौत के बाद अस्पताल की प्रक्रिया पूरी होने के बाद दोपहर बाद 3:00 बजे के करीब रांची से सबको गांव भेजा गया।

खबरें और भी हैं...