शिलान्यास:चिरेका कस्तूरबा गांधी अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट की हुई शुरुआत

मिहिजाम17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

हवा को सोख कर उसमें से ऑक्सीजन का शोधन कर प्लांट को मुहैया कराकर जरूरत मन्दो को उपलब्ध कराने की प्रक्रिया प्रेसर स्विंग शोधक (पीएसए) ऑक्सिजन प्लांट की शुरुआत गुरुवार को देश भर में की गई। पीएम केअर फण्ड से निर्मित इन पीएसए प्लांट का ऋषिकेश से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये एक साथ कई प्लांट की शुरुआत की।

इस अवसर पर 5 महीने में तैयार चिरेका कस्तूरबा गांधी अस्पताल के ऑक्सिजन प्लांट का भी उद्धघाटन किया गया। इस अवसर पर केंद्रीय शिक्षा राज्य मंत्री डॉ सुभाष सरकार और बराबानी विधायक बिधान उपाध्याय ने वीडियो लिंक के जरिये चिरेका ऑक्सीजन प्लांट का उद्घाटन किया। मौके पर चिरेका जीएम सतीश कुमार कश्यप भी उपस्थित हुए।

डॉ सुभाष ने कहा कि इतना ऑक्सीजन प्लांट व वैक्सीन कोई दूसरा देश नही कर पाया सिर्फ भारत ही सक्षम होकर नम्बर वन बन गया है। विधायक बिधान ने इसके लिए प्रधानमंत्री मोदी का आभार प्रकट किया। मौके पर कुल्टी विधायक अजय पोद्दार भी शामिल हुए।

ये है पीएसए ऑक्सीजन प्लांट की खूबियां

यह संयंत्र 570 लीटर प्रति मिनट मेडिकल ग्रेड ऑक्सीजन उत्पन्न करेगा। जो प्रति दिन 117 जंबो ऑक्सीजन सिलेंडर के बराबर होगा। यह प्रणाली अनुमानित तीसरी लहर में ऑक्सीजन की मांग और आईसीयू और ओटी में दिन-प्रतिदिन ऑक्सीजन की आवश्यकता को पूरा करेगी। पीएसए ऑक्सिजन प्लांट की तकनीक को तीन बिंदुओं से समझ जा सकता है।

खबरें और भी हैं...