पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हॉस्पिटल का निरीक्षण:आयुष के लिए झारखंड में नहीं हुई एक भी बहाली, बिहार कैडर के 53 लोगों से चलाना पड़ रहा है पूरे राज्य का काम

मिहिजामएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
निरीक्षण करते टीम के सदस्य। - Dainik Bhaskar
निरीक्षण करते टीम के सदस्य।
  • आयुष की तीन सदस्यीय टीम ने किया मिहिजाम होमियोपैथी कॉलेज एंड हॉस्पिटल का निरीक्षण

स्वास्थ्य चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण विभाग झारखंड सरकार की गठित तीन सदस्यीय जांच टीम ने, दी होमियोपैथिक मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल ऑफ़ मिहिजाम जामताड़ा झारखण्ड का निरीक्षण किया। तीन सदस्यीय जांच टीम में डॉ चन्द्र प्रसाद निदेशक आयुष, डॉ वकील कुमार सिंह प्राचार्य राजकीय आयुर्वैदिक फार्मेसी महाविद्यालय साहेबगंज एवं डॉ पूनम कुमारी ज़िला आयुष चिकित्सा पदाधिकारी जामताड़ा उपस्थित थे। इस अवसर पर आयुष निदेशक डॉ चंद्र प्रसाद ने कहा कि झारखंड बनने के बाद आयुष के लिए झारखंड में अधिकारियों की बहाली नही हुई।

निरीक्ष्रण टीम ने सभी 12 विभागाें की जांच की

महाविद्यालय के जांच के क्रम में जांच टीम ने सभी बारह विभागों एनाटॉमी, फिजियोलॉजी, फार्मेसी, पैथोलॉजी, एफ एम टी, ऑब्सटेट्रिक एंड गायनेकोलॉजी, सर्जरी, प्रैक्टिस ऑफ़ मेडिसिन, कम्यूनिटी मेडिसिन, रिपर्टरी, मैटेरिया मेडिका, ऑर्गेनोन ऑफ़ मेडिसिन विभाग सहित कॉलेज सेन्ट्रल लाइब्रेरी, गर्ल्स हॉस्टल, बॉयज हॉस्टल, कैंटीन, कॉलेज ओ पी डी का निरीक्षण किया। इसके उपरान्त राजवाड़ी मिहिजाम स्थित होमियोपैथिक अस्पताल के सभी ओ पी डी एवं आईपीडी का निरीक्षण किया जिसमें मेडिसिन ओपीडी आईपीडी, ऑब्सटेट्रिक एंड गायनेकोलॉजी ओपीडी एवं आईपीडी, सर्जरी ओपीडी एवं आईपीडी, पेडियाट्रिक्स ओपीडी एवं आईपीडी, दंत चिकित्सा विभाग, नेत्र चिकित्सा विभाग, कान नाक एवं गला विभाग, पैथोलॉजी लैबोरेटरी, फिजियोथेरेपी विभाग, योगा विभाग का निरीक्षण किया।

खबरें और भी हैं...