धनतेरस आज:धनतेरस, काली पूजा, दिपावली, गोवर्धन व भैयादूज को लेकर उत्साह का माहौल

नाला3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अबाबांक का काली मंदिर। - Dainik Bhaskar
अबाबांक का काली मंदिर।
  • धनतेरस को लेकर सजने लगा बाजार, कलश यात्रा की तैयारी शुरू

धनतेरस, काली पूजा, दिपावली, गोवर्धन पूजा व भैयादूज लेकर क्षेत्र में भक्ति एवं उत्साह का माहौल बनने लगा है। नाला बाजार सहित गोपालपुर, मुकुन्डी, नीचेपाड़ा, चालेपाड़ा, सियारकेटिया, दलावड़, देवजोड़ मंझलाडीह, मोहनवॉक, आम्बाबांक, जलांई, गुलूडुमरीया आदि क्षेत्र में रोशनी पर्व की तैयारी अंतिम चरण में है।

एक तरफ जहं काली पूजा, दिपावली लेकर मंदिर एवं घरों पर सफाई, रंगाई, पोताई का कार्य अंतिम चरण पर हैं, वहीं दूसरी ओर धनतेरस लेकर बाजार की दुकान सजने लगी है। इसबार बंगला पंचांग के अनुसार 2 नवंबर मंगलवार को धनतेरस, 4 नवंबर गुरुवार कालीपूजा व दिपावली तथा लक्ष्मीपूजा, 5 नवंबर शुक्रवार गोवर्धन पूजा एवं 6 नवंबर शनिवार को भैयादूज मनाया जाएगा।

नाला क्षेत्र के डुमरिया पंचायत अंतर्गत आम्बाबांक गांव में पर्व को लेकर भक्ति व उत्साह का माहौल बना हुआ है। यहां का प्राचीन मंदिर आसपास इलाके का श्रद्धालुओं के लिए आकर्षण का केंद्र है। यहां विराजमान मां काली की पूजा अर्चना भक्ति भाव से किया जाता है। मंदिर में मूर्ति व कलश स्थापना कर पूजा-अर्चना भक्तिभाव से किया जाता है।

मंदिर की स्थापना लगभग 451 सौ वर्ष पूर्व किया गया था जो आज भी विधि पूर्वक पूजा अर्चना किया जाता है। मंदिर की स्थापना के बारे में बलदेव सिंह, हराधन सिंह,श्रीनिवास सिंह, कन्हाई लाल सिंह, बामापद सिंह, परिमल सिंह, शक्ति पद सिंह,अम्बिका यादव आदि का कहना है कि यह मंदिर अति प्राचीन एवं क्षेत्र प्रसिद्ध मंदिर है। आचार्य सुबोध पांडेय एवं पुरोहित रविन्द्रनाथ झा द्वारा विधिवत घाट पूजन के उपरांत कलश यात्रा का आयोजन होगा।

खबरें और भी हैं...