पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

त्याेहार:16 काे समाप्त हाे रहा अधिक मास, 17 से शुरू हाे जाएंगे त्याेहार

धनबाद8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • 26 काे दशहरा, 30 काे शरद पूर्णिमा, 4 नवंबर काे करवाचाैथ 14 नवंबर दीपाेत्सव और 20 काे मनाया जाएगा महापर्व छठ

16 अक्टूबर को अधिक मास समाप्त हो रहा है। इसके बाद अगले दिन से यानी 17 अक्टूबर से देवी पूजा का नौ दिवसीय पर्व नवरात्रि शुरू हो जाएगा है। इस साल हिन्दी पंचांग में 12 नहीं, 13 महीने हैं। अधिक मास की वजह से पितृ पक्ष के बाद नवरात्रि पूरे एक महीने देरी से शुरू होगी। नवरात्रि के बाद कार्तिक पूर्णिमा तक कई बड़े पर्व और त्याेहार हैं।

शुक्रवार 16 अक्टूबर को अधिक मास की अमावस्या है। इसके बाद अगले दिन से आश्विन मास का शुक्ल पक्ष शुरू होगा। 17 तारीख को घट स्थापना होगी। इसी दिन तुला संक्रांति भी है। सूर्य कन्या से तुला राशि में प्रवेश करेंगे। शनिवार, 24 अक्टूबर को महाष्टमी है। 25 तारीख को दुर्गा नवमी है, ये नवरात्रि की अंतिम तिथि रहेगी। सोमवार, 26 अक्टूबर को दशहरा मनाया जाएगा। इस दिन श्रीराम और शमी वृक्ष का विशेष पूजन किया जाता है।

15 को गोवर्धन पूजा और 16 नवंबर को भाईदूज

शुक्रवार, 30 अक्टूबर को शरद पूर्णिमा है। इसे कोजागरी पूर्णिमा भी कहते हैं। मान्यता है कि इस तिथि पर देवी लक्ष्मी पृथ्वी का भ्रमण करती हैं। वहीं, बुधवार, 4 नवंबर को महिलाओं का महापर्व करवा चौथ है। इस दिन महिलाएं अपने पति की लंबी उम्र, अच्छे स्वास्थ्य और सुखद भविष्य की कामना से निर्जला व्रत करती हैं। महिलाएं चौथ माता की पूजा इस दिन करती हैं। इसके अलावा गुरुवार, 12 नवंबर को धनतेरस से दीपोत्सव शुरू हो रहा है। 13 तारीख को रूप चतुर्दशी, 14 को दीपावली, 15 को गोवर्धन पूजा और 16 नवंबर को भाई दूज का त्याेहार मनाया जाएगा।

20 नवंबर काे छठ, 30 काे गुरुनानक जयंती

शुक्रवार, 20 नवंबर को सूर्य पूजा का महापर्व छठ पूजा है। इस दिन सूर्य को अर्घ्य देने और पवित्र नदी में स्नान करने की परंपरा है। बुधवार, 25 नवंबर को देवउठनी एकादशी है। इस दिन से भगवान विष्णु विश्राम से जागते हैं। तुलसी और शालीग्राम का विवाह कराया जाता है। सोमवार, 30 नवंबर को कार्तिक मास की पूर्णिमा है। इस दिन गुरुनानक जयंती भी मनाई जाती है।

खबरें और भी हैं...