पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सैंपल पाॅजिटिव:काेराेना रिपाेर्ट पाॅजिटिव आने के बाद ढूंढ़े नहीं मिले 1838 संक्रमित, नाेडल ऑफिसर बोले- ज्यादातर ने नाम-पता; फाेन नंबर गलत बताया

धनबाद18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
धनबाद में अब तक 6 लाख सैंपलों की जांच में 18234 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई - Dainik Bhaskar
धनबाद में अब तक 6 लाख सैंपलों की जांच में 18234 की रिपोर्ट पॉजिटिव आई
  • सैंपल देने के बाद कहां गए, इलाज हुआ या नहीं, कितनाें काे संक्रमित किया... नहीं मिले इन सवालाें के जवाब

काेराेना की दाेनाें लहराें काे मिलाकर धनबाद जिले में कुल 18234 लाेगाें के सैंपल पाॅजिटिव पाए गए। उनमें से 16396 संक्रमिताें की पहचान हाे गई और उनका अस्पतालाें या हाेम आइसाेलेशन में इलाज कराया गया। लेकिन, चाैंकाने वाली बात यह है कि 1838 संक्रमिताें का पता ही नहीं चल सका। धनबाद में काेराेना का पहला केस 16 अप्रैल 2020 काे सामने आया था। उसके बाद से अब तक लगातार काेराेना जांच की जा रही है। हर महीने में मरीज मिले।

पहली लहर में साल 2020 के अगस्त और सितंबर में, ताे दूसरी लहर के दाैरान साल 2021 के अप्रैल और मई में हजाराें की संख्या में लाेग संक्रमित पास गए। जिनकी पहचान हाे गई, उनका इलाज कराया गया। स्वास्थ्य विभाग के आधिकारिक आंकड़ाें के मुताबिक, 379 लाेगाें की काेराेना संक्रमण से माैत हाे गई। लेकिन जिन 1838 संक्रमिताें काे स्वास्थ्य विभाग और प्रशासन नहीं ढूंढ सका, वे कहां-कहां गए, उनका इलाज हुआ या नहीं, उन्हाेंने कितने दूसरे लाेगाें काे संक्रमित किया हाेगा, इस सवालाें का जवाब शायद ही मिल सके। हालांकि आईडीएसपी का कहना है कि वैसे लाेगाें की काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग का पूरा प्रयास किया गया।

जाे पता बताया था, वहां उस नाम का शख्स मिला ही नहीं

आईडीएसपी के नाेडल पदाधिकारी डाॅ राजकुमार कहते हैं कि जिन संक्रमिताें का पता नहीं चल सका, उनमें से अधिकतर ने काेविड टेस्ट कराते समय गलत नाम, फाेन नंबर और पता दर्ज करा दिया था। रिपाेर्ट पाॅजिटिव आने पर उनके बताए नंबर पर काॅल किया गया और उनके बताए पते की जांच की गई, पर उनका पता नहीं चला। कई मामलाें में पता ताे सही निकला, लेकिन वहां उस नाम का काेई व्यक्ति मिला ही नहीं।

खबरें और भी हैं...