वासेपुर गैंगवार:हत्या के बाद प्रिंस ने जिसके मोबाइल से वीडियो वायरल किया, वो भी पकड़ाया

धनबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रिंस खान। - Dainik Bhaskar
प्रिंस खान।

वासेपुर गैंगवार में हुए नन्हे हत्याकांड में पुलिस को दो साक्ष्य हाथ लगे हैं। पुलिस ने औरंगाबाद से चांद नामक युवक को हिरासत में लिया है। आरोप है कि चांद के नाम का मोबाइल फोन प्रिंस खान का भाई बंटी खान इस्तेमाल करता था। इसके अलावा पुलिस ने वासेपुर से गुड्डन और उसके कर्मचारी इरशाद को भी हिरासत में लिया है।

पूछताछ जारी है।दूसरी तरफ हत्याकांड में शूटर की भूमिका निभाने के आरोपी वासेपुर के हैदर की बहन को पुलिस ने हिरासत में लिया है। इससे पूर्व नन्हे की हत्या के बाद जिम्मेवारी लेने का प्रिंस का वीडियो लड्डन के पास से बरामद मोबाइल से वायरल हुआ था। वीडियो वायरल होने के बाद से वह बंद था। रविवार को मोबाइल ऑन होने के बाद लोकेशन ट्रेस कर पुलिस ने जब्त किया। लड्डन की वासेपुर में बिजली उपकरण की दुकान है। लड्डन ने पुलिस को बताया है कि एक अनजान लड़की ने जबरन उसे मोबाइल दिया था।

इधर, रंगदारी का ऑडियो वायरल प्रिंस बोला- घर में घुस चिथड़े उड़ा देंगे; रिकवरी एजेंट ने कहा-बाहर तो निकल

नन्हे हत्याकांड के मुख्य आरोपी प्रिंस खान का रविवार को एक ऑडियो वायरल हुआ। वायरल ऑडियो में प्रिंस खान और रिकवरी एजेंट उपेंद्र सिंह की बातचीत है। बातचीत दिवाली के दिन 4 नवंबर की है। प्रिंस ने उपेंद्र को कॉल कर रंगदारी के लिए धमकी दी थी कि वह उसके घर में घुसकर उसके चिथड़े उड़ा देगा। बातचीत में उपेंद्र कहता है-चिथड़े उड़ाने के लिए तुम्हें घर से निकलना होगा। बिल में क्यों घुसा बैठा है। सामने आ। इस बातचीत के बाद उपेंद्र ने भूली थाना पहुंच शिकायत की, पर शिकायत दर्ज नहीं हुई। बाद में 6 नवंबर को भूली थाने में प्रिंस के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज हुई। भूली थानाध्यक्ष संदीप बाघवार ने बताया कि उपेंद्र सिंह की लिखित शिकायत पर प्रिंस पर रंगदारी और जान से मारने के धमकी देने का मामला दर्ज किया गया है।

पढ़िए गैंगस्टर और रिकवरी एजेंट में बातचीत

प्रिंस : हैलो, इस बार तू जिंदा नहीं रहेगा। रिकॉर्डिंग कर ले। बाद में प्रशासन के काम आएगी यह कॉल रिकॉर्डिंग। उपेंद्र : तू मेरा विधाता है क्या? प्रिंस : हम विधाता हैं या नहीं यह छोड़, इस बार सफाया करने के लिए निकले हैं। साफ कर देंगे। उपेंद्र : एक नया चाचा की भी एंट्री हो गई है न? प्रिंस : नया चाचा भी हाथ-पैर जोड़ रहा है। उसे पता चल गया कि जेल में किसने जहर पिलाया। पता कर लो, इस चाचा का दोबारा फोन नहीं आएगा। आया तो सर काट कर टांग देंगे यूपी में। उपेंद्र : अच्छा। प्रिंस : तुम जेड प्लस सिक्योरिटी में भी रहोगे तो चिथड़े उड़ा देंगे। उपेंद्र : तुम अपना सोचो, बिल में घुस कर क्यों भौंक रहा है, हिम्मत हो तो बाहर निकल। सामने आ।

2018 में उपेंद्र को गोली मारने का प्रिंस पर आरोप

उपेंद्र सिंह पर 2018 में जानलेवा हमला हुआ था, जिसमें उसे गोलियों से छलनी कर दिया गया था। हालांकि घटना में उपेंद्र बच गया था। यह घटना उपेंद्र के एक रिश्तेदार के सहयोग से प्रिंस व उनके साथियों द्वारा अंजाम देने की बात सामने आई थी। इस लेकर केस भी दर्ज हुआ था।

खबरें और भी हैं...