वर्षा जल संरक्षण:सभी सरकारी स्कूलों में होगी वर्षा जल को संरक्षित करने की व्यवस्था

धनबाद14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले में 1753 स्कूल, 115 स्कूलों में ही हो रहा वर्षा जल संरक्षण

झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद ने सभी सरकारी स्कूल भवनों में वर्षा जल संरक्षण की व्यवस्था करने का निर्देश दिया है। राज्य परियोजना निदेशक किरण कुमारी पासी ने कहा है कि वर्षा जल संरक्षण के लिए स्कूल परिसर/भवन में जरूरी इंफ्रास्ट्रक्चर की व्यवस्था की जाए। स्कूली शिक्षा एवं साक्षरता विभाग स्कूलों की संबद्धता के लिए वर्षा जल संरक्षण को अनिवार्य शर्त के तौर पर शामिल करे।

आरटीई एक्ट के तहत भी स्कूल भवन में वर्षा जल संरक्षण की व्यवस्था जरूरी है। स्कूली बच्चों को इस तरह के कार्यक्रम से जोड़कर, घरों में भी जल संरक्षण का संदेश दिया जा सकेगा। इधर, जल शक्ति अभियान के तहत कैच द रेन कार्यक्रम के संबंध में राज्य परियोजना निदेशक ने अपडेट रिपोर्ट तलब की है। डीईओ को लिखे पत्र में कहा है कि कैच द रेन अभियान के लिए स्कूल स्तर पर विभिन्न गतिविधियों का निर्देश था। जिले की अपडेट रिपोर्ट गूगल शीट के माध्यम से हर महीने की 5 तारीख को दी जाए।

107 में ही चला प्लांटेशन ड्राइव, 97 स्कूलों में नुक्कड़ नाटक से जागरूकता
परियाेजना की रिपोर्ट के अनुसार धनबाद जिले में 1753 सरकारी स्कूल संचालित हैं और इनमें महज 542 के ही पानी की जांच अब तक हो पायी है। 115 स्कूलों में वर्षा जल संरक्षण हो पा रहा है और केवल 107 स्कूलों में प्लांटेशन ड्राइव चलाया गया। इसी तरह 97 स्कूलों ने नुक्कड़-नाटक के माध्यम से जल संरक्षण के लिए स्थानीय लोगों को जागरूक किया।

खबरें और भी हैं...