पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भागीदारी से परहेज नहीं:भागवत बोले- आरएसएस में महिलाओं की भागीदारी से परहेज नहीं, हम जोड़ने को तैयार

धनबाद9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
राजधानी ट्रेन से दिल्ली जाते भागवत। - Dainik Bhaskar
राजधानी ट्रेन से दिल्ली जाते भागवत।
  • धनबाद प्रवास के अंतिम दिन संघ के सर संघचालक ने कई मुद्दों पर रखे विचार

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के सर संघचालक मोहन भागवत ने कहा कि संघ में महिला भागीदारी से परहेज नहीं है। महिलाओं को संघ से जोड़ने के लिए तैयार है‌ं। ऐसा भी नहीं है कि संघ में महिलाओं का प्रवेश वर्जित है। राष्ट्र सेविका समिति से जुड़कर महिलाएं काम कर रही हैं।

संघ प्रमुख धनबाद प्रवास के अंतिम दिन रविवार को राजकमल सरस्वती विद्या मंदिर में बुद्धिजीवियों के साथ बैठक कर रहे थे। उन्होंने कहा कि 30 साल पूर्व भी यह सवाल उठा था, पर तब विचार नहीं किया गया। आज परिस्थिति बदल गई है। महिलाएं संघ की अनुषंगी संगठनों से भी जुड़कर पुरुष के साथ कंधे से कंधा मिलाकर काम कर सकती हैं

जनसंख्या नीति का समर्थन, सब पर समान रूप से लागू हो

जनसंख्या नीति पर पूछे गए सवाल पर संघ प्रमुख ने कहा कि संघ इस नीति का विरोधी नहीं है। नीति ऐसी बननी चाहिए, जो सब पर समान रूप से लागू किया जा सके। यह कानून जब लागू हो जाए तो इसे प्रत्येक पर सख्ती से लागू किया जाना चाहिए। संघ प्रमुख ने विश्व को तालिबान जैसे खतरों से सचेत रहने की अपील की। तालिबान का नाम लिए बगैर कहा कि ऐसे खतरे से निपटने के लिए सभी देशों को तरीका ढूंढना हाेगा।

खबरें और भी हैं...