जज उत्तम आनंद हत्याकांड:सीबीआई ने जेल में ही की आरोपियों से पूछताछ गुजरात में दोनों के फिर होंगे नार्को व ब्रेन मैपिंग

धनबादएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सीबीआई के आवेदन पर 6 से 27 दिसंबर तक फोरेंसिक जांच की अनुमति

जिला जज उत्तम आनंद की हत्या के मामले में जेल में बंद आरोपी लखन वर्मा एवं उसके सहयोगी राहुल वर्मा का सीबीआई दोबारा नार्को व ब्रेन मैपिंग टेस्ट कराएगी। मामले का अनुसंधान कर रही दिल्ली सीबीआई ने बाबत जिला एवं सत्र न्यायाधीश तृतीय सह सीबीआई के विशेष न्यायाधीश रजनीकांत पाठक की अदालत को आवेदन देकर न्यायिक हिरासत में ही आरोपियों का गुजरात के गांधीनगर स्थित डायरेक्टोरेट ऑफ फोरेंसिक साइंस (डीएफएस) लैब में 6 दिसंबर से 29 दिसंबर तक नार्को, ब्रेन मैपिंग समेत अन्य टेस्ट कराने की अनुमति मांगी है। सीबीआई ने दोनों आरोपियों का जेल अधीक्षक द्वारा अभिप्रमाणित स्वीकृतिपत्र भी अदालत को सौंपा है।

वहीं बचाव पक्ष के अधिवक्ता कुमार विमलेंदु ने सीबीआई के आवेदन का विरोध करते हुए दोबारा टेस्ट की जरूरत पर सवाल उठाए। अदालत ने आवेदन को मंजूर करते हुए 6 से 29 दिसंबर तक आरोपियों के विभिन्न टेस्ट कराने की सशर्त अनुमति सीबीआई को दे दी। बचाव पक्ष के अधिवक्ता की उपस्थिति में नार्को टेस्ट कराने का भी निर्देश सीबीआई को दिया है।

सीबीआई का दावा-जांच में साजिश के मिले हैं क्लू

इससे पूर्व दोनों आरोपियों से सीबीआई जेल में पूछताछ कर रही है। सीबीआई के आवेदन पर अदालत ने दोनों आरोपियों से 27 नवंबर से 3 दिसंबर तक जेल परिसर में ही पूछताछ की अनुमति दी थी। सीबीआई विभिन्न चक्रों में जेल में ही दोनों आरोपियों से पूछताछ कर रही है। पूछताछ की अवधि कल समाप्त होने वाली है। अदालत को दिए गए आवेदन में सीबीआई ने कहा था कि अनुसंधान के दौरान कुछ नए क्लू एवं लीड मिले हैं जो दूसरे हत्याकांड में अन्य अभियुक्त और मास्टरमाइंड की ओर इशारा करते हैं। इस मामले में गहरी साजिश के कुछ नए तथ्य मिले हैं।

ऑटो चोरी केस में पेश नहीं किया गया गवाह
जज उत्तम आनंद की हत्या उपयोग किए गए ऑटो की चोरी के मामले में गुरुवार को सीबीआई की ओर से किसी गवाह को पेश नहीं किया गया। सीबीआई के विशेष दंडाधिकारी सह एसडीजेएम अभिषेक श्रीवास्तव की अदालत में यह मामला अभियोजन पक्ष के लिए चल रहा है। अदालत ने सुनवाई की अगली तारीख 9 दिसंबर निर्धारित कर दी है।

खबरें और भी हैं...