जज मौत मामला:सीबीआई की फाॅरेंसिक टीम ने सीन रिक्रिएट कर पूरे घटनाक्रम की बारीकियाें को समझा

धनबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एडीजे की माैत के मामले में घटनास्थल पर सीन रिक्रिएट करती सीबीआई। - Dainik Bhaskar
एडीजे की माैत के मामले में घटनास्थल पर सीन रिक्रिएट करती सीबीआई।
  • फेराे फाॅक्स थ्रीडी लेजर स्कैनर से थ्रीडी मेजरमेंट और इमेज तैयार किए
  • ऑटाे से धक्का मारने के दाेनाें आराेपी 5 दिनों के रिमांड पर

एडीजे-8 उत्तम आनंद की माैत की जांच कर रही सीबीआई की फाॅरेंसिक टीम ने शनिवार काे रणधीर चाैक पर पूरे घटनाक्रम काे रिक्रिएट किया। इसके जरिए उसने उस समय के हालात की बारीकियाें काे परखा, जब ऑटाे से एडीजे काे धक्का लगा था। साइंटिफिक तरीके से घटनास्थल की डिजिटल मैपिंग की। दिन के 11:30 बजे से दाेपहर 2 बजे तक टीम माैके पर रही। रणधीर वर्मा चाैक से लेकर हीरापुर बिजली कार्यालय तक नाे-इंट्री रही। किसी काे पैदल भी नहीं जाने दिया गया। काेर्ट की ओर से आनेवाले वाहनाें काे चाैक से ही डायवर्ट कर दिया गया।

इससे पहले, केस के अनुसंधानकर्ता सीबीआई स्पेशल क्राइम सेल के एएसपी विजय कुमार शुक्ला ने शनिवार की सुबह एडीजे उत्तम आनंद काे ऑटाे से धक्का मारने के आराेपियाें लखन कुमार वर्मा और राहुल कुमार वर्मा काे पूछताछ के लिए पांच दिनों के रिमांड पर लिया। उन्हाेंने शुक्रवार काे ही इसके लिए सीजेएम अर्जुन साव की अदालत में आदेवन दिया था। गाैरतलब है कि 28 जुलाई की सुबह 5:08 बजे जाॅगिंग कर रहे एडीजे उत्तम आनंद काे रणधीर वर्मा चाैक के पास ऑटाे ने धक्का मार दिया था। अस्पताल में इलाज के दाैरान उनकी माैत हाे गई थी।

जांच के लिए सैंपल लिए : रणधीर वर्मा चाैक के पास टीम ने एक ऑटाे मंगाया। फिर एडीजे आनंद की कदकाठी वाले एक युवक काे बुलाया। उसे उस जगह पर लिटाया गया, जहां एडीजे गिरे थे। युवक की बाॅडी की आउटलाइन तैयार की गई। जहां उसका सिर था, वहां काेई रसायन गिरा कर कुछ सैंपल लिए गए। सीबीआई ने फेराे फाॅक्स थ्रीडी लेजर स्कैनर से पूरे सीन रिक्रिएशन की शूटिंग की।

खबरें और भी हैं...