पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • Corona Out Of Central Covid 19 Hospital; Not A Single Corona Patient Admitted For The First Time In 9 Months, All The Beds Empty

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना अपडेट:सेंट्रल कोविड-19 अस्पताल से कोरोना हुआ आउट; 9 महीने में पहली बार एक भी कोरोना मरीज भर्ती नहीं, सभी बेड हुए खाली

धनबाद14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिले का पहला कोविड अस्पताल था सेंट्रल, मई से जुलाई तक फुल थे बेड, दिसंबर में कम होने शुरू हुए मरीज

कोरोना मरीजों के लिए बने धनबाद के पहले अस्पताल कोविड-19 सेंट्रल अस्पताल से कोरोना आउट हो गया है। 9 माह में पहली बार यहां भर्ती मरीजों की संख्या शून्य हो गई है। यहां भर्ती सारे मरीज ठीक होकर घर लौट चुके हैं और पिछले दो दिनों से यहां कोई नया मरीज भर्ती नहीं हुआ है।

कोविड-19 सेंट्रल अस्पताल में मरीजों की संख्या कम होने पर 40 बेड के जेनरल वार्ड को पहले ही बंद किया जा चुका है। यहां सिर्फ 30 बेड का आईसीयू बेड की चालू था। आईसीयू वार्ड में दो मरीज भर्ती थे, जिन्हें बुधवार को डिस्चार्ज कर दिया गया। वर्तमान में वार्ड पूरी तरह से खाली है। ऐहतियात के ताैर पर आईसीयू वार्ड काे चालू रखा गया है, ताकि विशेष परिस्थिति में गंभीर मरीजाें काे भर्ती कर उनका इलाज किया जा सके।

चिकित्सक के साथ पारा मेडिकल स्टाफ की 24 घंटे ड्यूटी लगाई गई है। उपायुक्त उमाशंकर सिंह की ओर से आदेश जारी किए जाने के बाद आईसीयू वार्ड को भी अधिकृत ताैर पर बंद करने की घोषणा की जाएगी। ज्ञात हो कि कोरोनाकाल में इस अस्पताल ने कई लोगों की जिंदगी बचाई थी। मई से जुलाई माह के बीच इस अस्पताल का हर बेड फुल था। सितंबर माह के बाद यहां मरीजों की संख्या कम होनी शुरू हुई थी।

अस्पताल में कुव्यवस्था और अनियमितता को लेकर उठे थे सवाल...
कोरोना के इलाज के दौरान यह अस्पताल कई बार विवादों में भी आया। कुव्यवस्था और अनियमितता काे लेकर कई बार सवाल उठे। उपायुक्त उमाशंकर सिंह ने यहां की व्यवस्था पर नाराजगी भी जताई। एक समय ऐसा भी आया. जब जिला प्रशासन के स्वास्थ्य विभाग और सेंट्रल अस्पताल के चार चिकित्सकाें काे शाेकाॅज जारी करना पड़ा।

प्रशासन ने लगाए थे 30 वेंटिलेटर
कोविड का इलाज जब मुश्किल था, तब प्रशासन ने सेंट्रल अस्पताल को नए तरीके से विकसित किया था। काेराेना से गंभीर रूप से पीड़ित मरीजाें काे वेंटिलेटर की सुविधा उपलब्ध कराने के लिए आईसीयू वार्ड बनाया गया था। जिला प्रशासन की ओर से 30 वेंटिलेटर लगाए गए थे।

यहां कोरोना से 7 की गई जान
काेविड-19 सेंट्रल अस्पताल में इलाज के दौरान मौतें भी हुई। इलाज के दौरान यहां 5 लोगों की जान गई है। वहीं, कई काे नया जीवन भी मिला है। सबसे अधिक सात माैत सेंट्रल अस्पताल के काेविड वार्ड में ही हुई। कोरोना से मरने वालों में चार बीसीसीएल कर्मी भी शामिल हैं।

काेविड अस्पताल के आईसीयू वार्ड में एक भी मरीज इलाजरत नहीं है। दाे मरीज भर्ती थे, दाेनाें ही ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। अस्पताल में चिकित्सकाें के साथ पारा मेडिकल स्टाफ की ड्यूटी जारी है। काेविड अस्पताल के बंद करने का निर्णय जिला प्रशासन काे लेना है। -आरके ठाकुर, सीएमएस, सेंट्रल अस्पताल, बीसीसीएल, धनबाद

नए मरीज मिले शून्य पांच डिस्चार्ज भी हुए
गुरुवार को एकबार फिर धनबाद में कोरोना का नया मरीज नहीं मिला। वहीं, कोरोना को हराकर गुरुवार काे 5 व्यक्ति ठीक हुए। इस संबंध में उपायुक्त उमा शंकर सिंह ने बताया कि ठीक हुए सभी पांचाें व्यक्तियों को हेल्थ किट प्रदान कर सम्मान के साथ अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। सभी काे 14 दिनों के होम क्वारेंटाइन में रहने का निर्देश दिया गया है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज समय कुछ मिला-जुला प्रभाव ला रहा है। पिछले कुछ समय से नजदीकी संबंधों के बीच चल रहे गिले-शिकवे दूर होंगे। आपकी मेहनत और प्रयास के सार्थक परिणाम सामने आएंगे। किसी धार्मिक स्थल पर जाने से आपको...

    और पढ़ें