टल गई अनहोनी:आत्मदाह की चेतावनी देकर खाली हाथ पहुंचे निगम कार्यालय, दो घंटे समझाने-बुझाने के बाद लौटे घर

धनबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आत्मदाह की चेतावनी देनेवालों को समझाते नगर निगम के अधिकारी। - Dainik Bhaskar
आत्मदाह की चेतावनी देनेवालों को समझाते नगर निगम के अधिकारी।

शहर के वार्ड 25 स्थित शिमलडीह में लाॅ काॅलेज के आसपास अवैध वाटर कनेक्शन के मुद्दे पर साेमवार काे नगर निगम कार्यालय में दाे घंटाें तक खासा ड्रामेबाजी हुई। अवैध कनेक्शन हटाने और कनेक्शन करने वाले प्लंबराें व कनीय अभियंता पर कार्रवाई की मांग के साथ शिमलडीह के 5-7 लाेग पहुंच गए।

उन्हाेंने कार्रवाई नहीं हाेने पर सामूहिक आत्मदाह की चेतावनी दी थी। इसकी सूचना निगम के साथ-साथ जिला प्रशासन से लेकर सीएम और राज्यपाल तक काे भेज दी थी। निगम प्रशासन ने भी साेमवार काे अपने कार्यालय में व्यापक तैयारी कर रखी थी।

किसी के पास किरासिन या माचिस नहीं थी, सीधे कनीय अभियंता के पास पहुंचे

सहायक नगर आयुक्त कंचन कुमारी भादरिया मेन गेट पर बताकर दंडाधिकारी तैनात थीं। फायर ब्रिगेड की गाड़ी, एंबुलेंस और पुलिस बल ने भी किसी अनहोनी से निबटने के लिए मार्च संभाल लिया था। हालांकि वैसा कुछ नहीं हुआ, जिसकी अनाशंका थी। शिमलडीह के लगें काे समझा-बुझाकर लाटा दिया गया। इसके साथ ही निगम प्रशासन समेत पूरे अमले ने राहत की सांस ली।

शिमलडीह और लाॅ काॅलेज के अासपास रहनेवाले लाेग दिन में करीब 11:30 बजे निगम कार्यालय पहुंचे। चाैकसी और सुरक्षा के इंतजाम देख सीधे कनीय अभियंता के पास पहुंचे। निगम कर्मियाें के अनुसार, वे खाली हाथ थे। उनके पास किराेसिन, माचिस जैसा कुछ नहीं था। कनीय अभियंता ने उनके आने की जानकारी दंडाधिकारी और पुलिसकर्मियाें काे दी।

फिर सहायक नगर आयुक्त भदाैरिया, फूड इंस्पेक्टर अनिल कुमार ने उन सबकी मांगाें काे सुना। उन्हें कार्यपालक पदाधिकारी माेहम्मद अनीस के पास ले जाया गया। वहां समझाने-बुझाने पर सब घर लाैट गए। आत्मदाह करने की लिखित जानकारी देने वालाें में दिनेश कुमार, राजेश साव आदि शामिल थे।

कार्यपालक पदाधिकारी ने बताया - प्लंबर काे हटा दिया गया

कार्यपालक पदाधिकारी माेहम्मद अनीस ने बताया कि शिमलडीह के लगें का आराेप है कि 20-20 हजार रुपए लेकर अवैध वाटर कनेक्शन दे दिया गया है। इससे उनके घराें में ठीक से पानी नहीं आता। उन्हाेंने अवैध कनेक्शन हटाने की मांग की।

यह भी कहा कि उस इलाके के पाइप से अब किसी काे कनेक्शन न दिया जाए। उस पर विचार करने का आश्वासन दिया गया और उनकी मांग पर वार्ड 25 के प्लंबर काे हटा दिया गया है। अन्य प्लंबराें से अवैध कनेक्शनाें की पूरी जानकारी मांगी गई है।

खबरें और भी हैं...