पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नगर निगम की लापरवाही से सड़कें बन गईं खटाल:सड़कों पर चारा खोज रहे गाय-सांड़, खुले में छोड़ने वालों को नियमों का डर नहीं

धनबाद22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
धनबाद-बोकारो मुख्यमार्ग में तेलमच्चो महुदा मोड़ गोलाई में में बुधवार को 20 साल के अमित हाड़ी की मौत की वजह सड़कों पर बैठे मवेशी बने। मवेशी के फेर में युवक पीछे से आ रहे ट्रेलर की चपेट में आ गया। - Dainik Bhaskar
धनबाद-बोकारो मुख्यमार्ग में तेलमच्चो महुदा मोड़ गोलाई में में बुधवार को 20 साल के अमित हाड़ी की मौत की वजह सड़कों पर बैठे मवेशी बने। मवेशी के फेर में युवक पीछे से आ रहे ट्रेलर की चपेट में आ गया।
  • सच यह है कि- निगम ने 15 सालों में एक भी मवेशी मालिक से नहीं वसूला जुर्माना
  • सड़कों पर दिन-रात मौजूद रहते हैं 5 हजार से अधिक मवेशी, एक सप्ताह में चौथी मौत की बने वजह

धनबाद जिले की किसी भी सड़क पर घूम आइए। वहां मवेशियों का जमावड़ा जरूर मिल जाएगा। सड़कों पर मौजूद ये मवेशी हर रोज हादसे की वजह बन रहे हैं। एक सप्ताह में चार लोगों की जानें इन्हीं मवेशियों की वजह से गई हैं, वहीं लगभग दर्जनभर जख्मी होकर अस्पताल पहुंच गए। अब जानते हैं...ये मवेशी आए कहां से और जिम्मेवारों ने अब तक क्या कार्रवाई की।

ये मवेशी पालतू हैं, परंतु उनके मालिकों ने चारा खाने के लिए उन्हें सड़कों पर ही यूं ही खुला छोड़ दिया है। इन्हें हटाने और सड़कों पर खुला छोड़ने वालों पर कार्रवाई नगर निगम को करनी है। अब निगम से रू-ब-रू होइए। निगम द्वारा पिछले 15 साल में किसी भी मवेशी मालिक से एक रुपए भी जुर्माना वसूल नहीं किया गया है। यह वही निगम है, जो विभिन्न मद पर लोगों से जुर्माना वसूली में कोताही नहीं करता।

इधर, ट्रैफिक पुलिस ने हेलमेट पर वसूले 1.20 करोड़ जुर्माना

दोपहिया चालकों की जान बचाने के लिए हेलमेट जरूरी है, परंतु ट्रैफिक पुलिस ने कभी भी सड़कों पर हादसों की वजह बने मवेशियों को हटवाने के लिए कभी प्रयास नहीं किया, पर हेलमेट नहीं पहनने वालों से जनवरी 2020 से अब तक 1.20 करोड़ रुपए जरूर जुर्माना वसूल लिया। इधर, मवेशी हटाने के लिए जिम्मेदार निगम ने पशुओं को हटाने के लिए एजेंसी बहाली का निर्णय लिया गया था, लेकिन प्रक्रिया पूरी नहीं की गई है। निगम के अफसर जवाबदेही की बात ताे स्वीकार करते है, लेकिन संसाधन की कमी की विवशता भी बताते हैं।

जिनके मवेशी सड़क पर, उनसे 5 हजार जुर्माने का प्रावधान

आवारा पशुओं काे जब्त कर उसके मालिक से जुर्माना वसूलने का प्रस्ताव तीन साल पूर्व निगम बाेर्ड से पारित किया गया था, लेकिन इसे आज तक अमल में नहीं लाया गया है। नगरपालिका एक्ट में मवेशी मालिकाें से पांच हजार जुर्माने का नियम है।

निगम की जवाबदेही है

आवारा मवेशियाें काे पकड़ने की जवाबदेही निगम की है। गाैशाला प्रबंधक से बातचीत हुई है, लेकिन अभी कुछ फाइनल नहीं हुआ है। चारा का इंतजाम भी करना हाेगा।''
-माे अनीश,कार्यपालक पदाधिकारी, निगम

शहरी क्षेत्र में सड़काें पर भटकने वाले मवेशियाें काे पकड़ने की जिम्मेवारी नगर निगम की है। पशुपालन विभाग काे राज्य सरकार से ऐसी काेई जिम्मेवारी नहीं दी गई है।''

उपेंद्र सिंह, जिला पशुपालन पदाधिकारी

खबरें और भी हैं...