पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

साइबर ठगों का नया हथियार पाेर्नाेग्राफी:इंटरनेट पर युवतियों का अश्लील वीडियो दिखा ब्लैकमेल कर रहे साइबर अपराधी; धनबाद में 2 और पलामू में 5 केस आए

धनबाद3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पलामू में भी साइबर अपराधियों के हनी ट्रैप में फंस रहे लोग। प्रतीकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
पलामू में भी साइबर अपराधियों के हनी ट्रैप में फंस रहे लोग। प्रतीकात्मक फोटो
  • झारखंड में तेजी से बढ़ रही है पीड़ितों की संख्या, पर कई लोकलाज के कारण चुप रहते हैं

पाेर्नाेग्राफी साइट्स साइबर अपराधियाें का यह नया हथियार बन गया है। इसके माध्यम से झारखंड के कई लोगों को साइबर अपराधियों ने फंसाया है, पर लोकलाज व सामाजिक प्रतिष्ठा के कारण वे चुप हैं। पुलिस से इसकी शिकायत नहीं की। लाॅकडाउन में समय बिताने के चक्कर में कई लोग पाेर्न वीडियाे देख उनके हनी ट्रैप में फंस रहे हैं। साेशल मीडिया पर साइबर अपराधी के कई ग्रुप सक्रिय हैं।

खासकर अधेड़ उम्र के लाेग इनके झांसे में ज्यादा फंस रहे हैं। लाइव चैट के दाैरान साइबर अपराधी कॉलर की चैटिंग व उसकी महिला से बातचीत का वीडियो बना कर उसे वायरल करने या उनके परिवार के पास भेजने की धमकी देकर पैसे ऐंठते हैं। धनबाद में दो, पलामू में पांच व रांची में कई मामले सामने आए हैं। इनमें से धनबाद के एक व्यक्ति से 4 लाख रुपए की ठगी हुई।

गैंग की युवती उत्तेजक दृश्य दिखा कर फांसती है : साइबर अपराधियों की गैंग की युवती लाइव चैट के दाैरान कॉलर को पाेर्न वीडियाे दिखा कर उसका स्क्रीन शॉट ले लेती है। फिर पुलिस अधिकारी बन कर गैंग के लोग ब्लैकमेल करते हैं। पैसे नहीं देने पर प्रतिष्ठा धूमिल करने की धमकी देते हैं।

धनबाद के वासेपुर के प्रोफेसर से चार लाख रुपए ठग लिए
धनबाद जिले के वासेपुर के रहनेवाले एक प्राेफेसर भी इसी तरह इनके झांसे में आ गए। साइबर अपराधियों ने उन्हें ब्लैकमेल करना शुरू किया और धीरे-धीरे उनसे 4 लाख रुपए ले लिए। तंग हाेकर वे साइबर थाना पहुंचे और घटना की शिकायत की। अब पुलिस मामले की जांच कर रही है।

वहीं, सदर थाना क्षेत्र के एक व्यक्ति की शिकायत थी कि दिल्ली क्राइम ब्रांच का अधिकारी बताने वाला एक व्यक्ति फाेन कर उससे पैसे की मांग कर रहा है। पूछताछ में पता चला कि साेशल मीडिया वीडियाे काॅल कर पाेर्न वीडियाे दिखाने के दाैरान काॅलर अपने माेबाइल का स्क्रीन शाॅट बना लिया और उन्हें ब्लैकमेल कर रहा है। शिकायतकर्ता ने स्थानीय पुलिस से प्राथमिकी दर्ज करने की मांग की है।

पलामू में भी साइबर अपराधियों के हनी ट्रैप में फंस रहे लोग
अश्लील वीडियाे चैट कर युवती ने यूजर से मांगे 20 हजार रुपए

पलामू के मेदिनीनगर शहर के फेसबुक यूजर एक युवा के पास कुछ दिन पहले एक लड़की का फ्रेंड रिक्वेस्ट आया। दोनों में मैसेंजर पर हाय-हैलो शुरू हुआ। फिर अश्लील चैट और अश्लील वीडियो कॉलिंग का सिलसिला चला। वीडियो कॉल के बाद एक मैसेज आया कि आपकी वीडियो बन गई है। 20 हज़ार रुपए जल्दी भेज दो। इसके अगले दिन युवक को एक व्यक्ति का फोन आया, जिसने खुद को दिल्ली क्राइम ब्रांच का अधिकारी बताया।

कहा कि लड़की के साथ अश्लील हरकत करने के मामले में दिल्ली में केस दर्ज कर लिया गया है, पैसा दे दो नहीं तो गिरफ्तार कर लिए जाओगे। इसके बाद फिर एक फोन आया कहा गया कि यूट्यूब पर वीडियो वायरल कर दिया जाएगा। इससे युवक काफी परेशान हो गया। उसे दोस्तों ने हिम्मत बंधाया, तब युवक ने सिम कार्ड तोड़ कर खुद को बचाया।

गुप्त राेग विशेषज्ञ बन लड़की ने सोशल मीडिया पर बढ़ाई दाेस्ती
पलामू जिले के ग्रामीण इलाके का एक उम्रदराज व्यक्ति भी इस मामले में फंस चुका है। वे समय काटने के लिए फेसबुक देखा करते थे। इसी दाैरान सुंदर प्राेफाइल वाली एक एक लड़की से उनकी दोस्ती हाे गई। उसने खुद को गुप्त रोग का डॉक्टर बताया और इन्हें अश्लील चैट और वीडियो कॉल के जाल में फंसा लिया। धीरे-धीरे लड़की से अधेड़ की काफी बातचीत हाेने लगी। तब लड़की ने बताया कि उनकी अंतरंग बातचीत रिकाॅर्ड कर ली गई है।

अगर बताए अनुसार पैसे नहीं दिए गए ताे यह बातचीत उनके घरवालाें तक पहुंचा दी जाएगी और वायरल भी कर दिया जाएगा। इसके बाद इनकी मुसीबत शुरू हो गई। साइबर थाना पहंचकर इन्होंने इस जाल से बाहर निकालने की गुहार लगाई। अब स्थानीय पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

खबरें और भी हैं...