निधन / देवघर विधायक के पत्नी की मां की इलाज के दौरान मौत, चिकित्सक पर लापरवाही का लगाया आरोप

नारायण दास। (फाइल फोटो) नारायण दास। (फाइल फोटो)
X
नारायण दास। (फाइल फोटो)नारायण दास। (फाइल फोटो)

  • सुबह तबीयत बिगड़ने के बाद सदर अस्पताल में कराया गया था भर्ती, विधायक ने जांच की बात कही
  • डीसी ने जांच के लिए मेडिकल बोर्ड का किया गठन, कहा- दोषियों के खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई

दैनिक भास्कर

Mar 26, 2020, 06:58 PM IST

देवघर. देवघर विधायक नारायण दास की सास 65 वर्षीय आशा देवी की मौत गुरुवार को सदर अस्पताल में इलाज के क्रम में हो गई। सास की मौत की खबर मिलते ही विधायक नारायण दास अपने कार्यकर्ताओं के साथ सदर अस्पताल पहुंचे। उन्होंने डॉक्टरों पर इलाज में लापरवाही बरतने का आरोप लगाया। सुबह लगभग 10 बजे नारायण दास की सास आशा देवी की तबीयत अचानक बिगड़ गई। जिससे उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। जहां इलाज के क्रम में उनकी मृत्यु हो गई|।
 
विधायक नारायण दास ने कहा कि उन्होंने सिविल सर्जन से मरीज को बेहतर इलाज की बात की थी लेकिन उन्हें आईसीयू में नहीं रख कर जनरल वार्ड में रखा गया। वहीं सिविल सर्जन के द्वारा उन्हें गलत जानकारी दी गई कि आईसीयू में उनकी सास को रखा गया है। इसके साथ ही मरीज को ऑक्सीजन का खाली सिलेंडर लगाया गया। उन्होंने पूरी तरह इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए इसकी जांच की बात की। 

मामले की जानकारी होने पर अनुमंडल पदाधिकारी विशाल सागर, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी विकास चंद्र श्रीवास्तव, उप विकास आयुक्त शैलेंद्र कुमार लाल, सहित अन्य अधिकारी सदर अस्पताल पहुंचे। अधिकारियों ने सिविल सर्जन सहित मौके पर मौजूद अन्य डॉक्टरों से पूछताछ की और मामले की जानकारी ली। वहीं कुछ देर बाद उपायुक्त नैंसी सहाय भी सदर अस्पताल पहुंची। उन्होंने भी मृत आशा देवी का इलाज कर रहे डॉक्टर नर्स अन्य कर्मचारियों से बारी बारी से पूछताछ की| सिविल सर्जन से पूरे मामले की जानकारी ली। एसडीओ विशाल सागर ने अस्पताल के रजिस्टर एवं बीएचटी आदि की जांच की एवं रजिस्टर व बीएचटी को जांच के लिए सीज कर अपने साथ ले गए। 

डीसी ने जांच के लिए मेडिकल बोर्ड का किया गठन
उपायुक्त नैंसी सहाय ने बताया कि मामले की जांच के लिए मेडिकल बोर्ड का गठन किया गया है जो भी दोषी पाए जाएंगे उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। एसडीओ विशाल सागर ने कहा कि जिस समय वे लोग अस्पताल पहुंचे मृतका के पास ऑक्सीजन का खाली सिलेंडर था इसकी जांच की जाएगी उसमें पहले से ऑक्सीजन कितना था या पूरा खाली था। इसके साथ ही रजिस्टर आदि को जांच के लिए सीज किया गया है। अगर कोई भी दोषी पाए जाएंगे इलाज में लापरवाही अगर उजागर होगी तो दोषियों पर निश्चित ही कार्यवाही की जाएगी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना