पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • Elephants Being Built From Scooters To Trucks Tires, On The Innovation Points Of The Corporation's Gaze, The Elephant Of Tires Will Be Installed Near Kala Bhavan

स्वच्छता सर्वेक्षण:स्कूटर से लेकर ट्रकों के टायर से बनाया जा रहा हाथी, निगम की टकटकी इनोवेशन के अंक पर, कला भवन के पास स्थापित होगा टायरों का हाथी

धनबाद6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सिटी मैनेजर प्रेम प्रकाश ने बताया कि निर्माण में 200 से 300 पुराने टायर का इस्तेमाल हो रहा

स्वच्छता सर्वेक्षण के तहत शहर काे सुंदर बनाने के लिए नगर निगम नया प्रयाेग कर रहा है। यह प्रयाेग पुराने और बेकार पड़े सामानाें का इस्तेमाल कर किया जा रहा है। ऐसा ही एक प्रयाेग नगर निगम पुराने टायरों काे लेकर कर रहा है। पुराने टायराें के इस्तेमाल से 12 फीट का एक हाथी बनाया जा रहा है। टायर से बने इस हाथी काे कला भवन के समीप स्थापित किया जाएगा। सिटी मैनेजर प्रेम प्रकाश ने बताया कि निर्माण में 200 से 300 पुराने टायर का इस्तेमाल हो रहा है। स्कूटर से लेकर ट्रकों को भी प्रयोग में लाया जा रहा है। हाथी के तैयार हाे जाने के बाद उसे स्प्रे पेटिंग से और आकर्षण बनाया जाएगा। इसके चाराें तरफ लाइटिंग भी की जाएगी।

इनाेवेशन पर 180 अंक निर्धारित, नए प्रयोग पर जोर

स्वच्छता सर्वेक्षण में इनाेवेशन एंड बेस्ट प्रैक्टिस पर 180 अंक निर्धारित है। इस अंक काे पाने के लिए ही नगर निगम पुराने टायराें से हाथी बनवा रहा है। सर्वेक्षण में एक कैटेगरी थ्री आर का है। मतलब रिड्यूज, रिसाइकलिंग और रीयूज। थ्री आर में यह दिखाना है कि हम कैसे स्क्रैप और बेकार सामान का इस्तेमाल कर रहे हैं। शहर काे सुंदर बनाने के लिए क्या नया प्रयाेग पुराने और स्क्रैप समान से कर रहा है। इनाेवेशन में किस तरह के स्क्रैप का प्रयाेग किया जा रहा है।

पूरे शहर में कराई जा रही वॉल पेंटिंग, लिखे जा रहे स्लोगन

स्वच्छता सर्वेक्षण के प्रति लाेगाें काे जागरूक करने के लिए पूरे निगम क्षेत्र में वॉल पेटिंग कराई जा रही है। आकर्षक चित्रकारी के साथ स्वच्छता का संदेश भी शहर के लाेगाें काे दिया जा रहा है। स्लाेगनों के जरिए बताया जा रहा है कि वे अपने घर से निकलने वाले गीला और सूखे कचरा काे अलग-अलग रखे कचरे काे सड़क पर फेकने की बजाय उसे डस्टबिन में डालें।

खबरें और भी हैं...