पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • Filling The Potholes Of The Roads Without Stopping The Traffic, Even After Waterlogging, The Pits Will Not Emerge There Again

तकनीक:ट्रैफिक रोके बगैर अब सड़कों के गड्ढों की भराई, जलजमाव के बाद भी वहां फिर नहीं उभरेंगे गड्ढे

धनबाद17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
गड्ढे की भराई का डेमो देखते ट्रैफिक डीएसपी। - Dainik Bhaskar
गड्ढे की भराई का डेमो देखते ट्रैफिक डीएसपी।
  • रेडी टू यूज पाेटहाेल्स फिक्सिंग साेल्यूशन के जरिए चंद मिनटों में ही गड्ढे गायब

शहर में ट्रैफिक जाम की एक प्रमुख वजह सड़कों के गड्ढे भी हैं। अब ट्रैफिक पुलिस ने जाम से निजात दिलाने के लिए गड्ढों की मरम्मत पर प्रयास शुरू किया है। इसके लिए एक प्राइवेट कंपनी की मदद ली जा रही है। बुधवार काे कंपनी के प्रतिनिधियों ने श्रमिक चाैक पर गड्ढों काे भरने का डेमाे दिया।

ट्रैफिक डीएसपी राजेश कुमार ने कहा कि यह व्यवस्था कारगर निकली तो ताे सड़क सुरक्षा समिति काे कंपनी से काम लेने की अनुशंसा की जाएगी। कंपनी प्रतिनिधियों ने बताया कि कंपनी पाेटहाेल्स फिक्सिंग साेल्यूशन बनाती है, जाे सड़क का गड्ढाें काे भरने में काम आता है। रेडी टू यूज मैटेरियल से कुछ देर में ही गड्ढाें काे भरा जा सकता है।

सड़क सुरक्षा समिति से अनुशंसा करेगी ट्रैफिक पुलिस

सड़क में गड्ढों के कारण हर दिन जाम की समस्या उत्पन्न हाे रही है। ट्रैफिक पुलिस ने पथ निर्माण विभाग काे गड्ढे भरने के लिए पत्र लिखा था लेकिन इस दिशा में अभी तक काेई पहल नहीं की गई है। जाम काे देखते हुए ट्रैफिक पुलिस ने कंपनी से संपर्क कर डेमाे देने काे कहा। इसके बाद अब प्रशासन तय करेगा कि कंपनी काे काम देना है या नहीं। इस प्रक्रिया की खास बात यह हाेगी कि यातायात काे प्रभावित किए बगैर भी यह काम हाे सकता है। मात्र दस मिनट में गड्ढाें काे भरा जा सकता है।

बगैर मशीन व रोलर के 10 मिनट में भराई संभव

सड़क में गड्ढों की प्रमुख वजह पानी माना जाता है। इस धारणा के उलट कंपनी ने डेमाे के दाैरान पहले गड्ढे में दाे बाेतल पाली डाला और उसके बाद रेडी टू यूज मैटियरल काे गड्ढे में भरकर उसे समतल किया। 10 मिनट के अंदर ही यह काम हाे गया। इसके लिए ट्रैफिक काे नहीं राेका गया।

इधर, देर रात गया पुल के गड्‌ढों की हुई भराई

इधर, ट्रैफिक पुलिस ने देर रात अपने स्तर से गया पुल के नीचे बने गड्‌ढों की भराई कराई। इन गड्‌ढों के कारण यहां अक्सर जाम लग जाता है।

खबरें और भी हैं...