बैंक मोड़ ओवरब्रिज का विकल्प बनेगा एक और फ्लाईओवर:पूजा टॉकीज से शुरू होगा फ्लाईओवर,डीसी समेत रेलवे व पथ निर्माण विभाग के अफसरों ने किया स्थल निरीक्षण

धनबादएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • डायमंड क्रॉसिंग के रास्ते झरिया पुल पर होगा समाप्त, केबल स्टेड ब्रिज टेक्नाेलाॅजी पर फ्लाईओवर आधारित, 4 जगह ही लगाए जाएंगे पिलर

धनबाद शहर में जाम से मुक्ति काे लेकर मटकुरिया फ्लाईओवर के बाद एक और फ्लाईओवर निर्माण की कवायद तेज हाे गई है। दूसरा फ्लाईओवर पूजा टाॅकीज से झरिया पुल हाेते हुए धनसार तक बनेगा। जिला प्रशासन की पहल पर मंगलवार काे पूर्व मध्य रेलवे और पथ निर्माण विभाग की एडवांस प्लानिंग डिपार्टमेंट की टेक्निकल टीम ने फ्लाईओवर निर्माण काे लेकर भाैतिक निरीक्षण किया।

डीसी संदीप सिंह, आरसीडी चीफ इंजीनियर वाहिद कमर फरीदी, पूर्व मध्य रेलवे के डीईएन विशेष राकेश कुमार के नेतृत्व में संयुक्त टीम ने पूजा टाॅकीज, श्रमिक चाैक, धनबाद रेलवे स्टेशन, गया रेललाइन, डायमंड क्राॅसिंग, झरिया पुल तक के एलाइनमेंट काे लेकर भाैतिक जायजा लिया।

संयुक्त टीम के सर्वे का आधार पर आरसीडी एडवांस प्लानिंग डिपार्टमेंट फ्लाईओवर की रूपरेखा (डिजाइन व ड्राॅइंग) तैयार करेगा, जिसका प्रस्ताव पूर्व मध्य रेलवे काे भेजा जाएगा। पथ निर्माण विभाग के मुख्य अभियंता के अनुसार पूजा टाॅकीज भाया झरिया पुल तक 2 किमी फ्लाईओवर केबल स्टेड ब्रिज टेक्नाेलाॅजी पर आधारित हाेगी, जाे झारखंड में इस तरह का पहला फ्लाईओवर हाेगा। इसके तहत धनबाद-गया रेललाइन व धनबाद-चंद्रपुरा रेल लाइन पर दाे जगह पर केबल स्टेड ब्रिज हाेगा। इस फ्लाईओवर की कंसल्टेंसी दिल्ली की चैतन्या कंपनी है।

पूर्व मध्य रेलवे काे भेजी जाएगी जेनरल अरेजमेंट ऑफ ड्राॅइंग

आरसीडी के चीफ इंजीनियर का कहना है कि पूर्व मध्य रेलवे से फ्लाईओवर निर्माण काे लेकर जैसे ही स्वीकृति मिल जाती है, आरसीडी का एडवांस प्लानिंग डिवीजन पूर्व मध्य रेलवे काे जेनरल अरेजमेंट ऑफ ड्राॅइंग (जीएडी) बनाकर भेज देगा। जीएडी में धनबाद रेल मंडल से कहां-कहां जमीन चाहिए, कितने मकान और कंस्ट्रक्शन टूटेंगे, उनका जिक्र हाेगा।

उसी आधार पर धनबाद रेल मंडल काे मुआवजा भुगतान व कंस्ट्रक्शन बनाकर दिया जाएगा। जीएडी की मंजूरी मिलने का मतलब है, रेलवे ने फ्लाईओवर का प्रस्ताव स्वीकार कर लिया है। इसके बाद डिजाइन व ड्राॅइंग निर्माण किया जाएगा।

क्या है फ्लाईओवर की खासियत

पथ निर्माण विभाग का कहना है कि फ्लाईओवर की सबसे बड़ी खासियत है कि कम पिलर में ही इसका निर्माण संभव है। इसमें रेलवे की बहुत जमीन नहीं जाएगी। 4-5 पिलर में ही फ्लाईओवर तैयार हाे जाएगा।

मटकुरिया फ्लाईओवर की जीएडी रेलवे काे भेजी गई

आरसीडी चीफ इंजीनियर वीके फरीदी का कहना है कि पूर्व मध्य रेलवे ने मटकुरिया फ्लाईओवर की डिजाइन में मामूली संशाेधन का प्रस्ताव भेजा था, जिसके आधार पर आरसीडी ने संशाेधित जीएडी भेजी है। रेलवे से मंजूरी मिलते ही टेंडर प्रक्रिया शुरू कर दी जाएगी।

गया पुल में अंडरपास पर 13 काे रेलवे के साथ बैठक

गया पुल के पास दूसरे अंडरपास निर्माण काे लेकर फिजिबिलिटी रिपाेर्ट पर 13 दिसंबर काे धनबाद रेल मंडल के साथ पथ निर्माण विभाग धनबाद और राइट्स हाइवे काेलकाता के बीच बैठक हाेगी। रेलवे से फिजिबलिटी रिपाेर्ट की स्वीकृति मिलते ही डीपीआर बनेगी।

खबरें और भी हैं...