24 में से 14 करोड़ की योजनाओं की अनुशंसा:पहली बार...राज व अपर्णा विधायक मद के 90 लाख से खरीदेंगे बच्चों की किताबें

धनबाद2 महीने पहलेलेखक: केके सुनील
  • कॉपी लिंक

मौजूदा वित्तीय वर्ष 2022-23 में जिले के तमाम विधायकाें का सबसे ज्यादा जाेर राेड, नाली, सामुदायिक भवन, पेयजल संकट, शेड निर्माण पर है। अनुशंसा की गई याेजनाओं की प्राथमिकता सूची में दूसरे स्थान पर शिक्षा, स्वास्थ्य, सार्वजनिक तालाबों में सीढ़ी व महिलाओं के लिए चेंजिंग रूम की व्यवस्था है।

हर विधायक का विकास योजनाओं पर खर्च के लिए सालाना 4-4 करोड़ की राशि आवंटित होती है। वित्तीय वर्ष 2022-23 में जिले के सभी 6 विधायकाें के विधानसभा क्षेत्र के विकास के लिए 24 कराेड़ की राशि राज्य सरकार से आई थी। यह राशि जिला विकास शाखा काे इस वर्ष जुलाई महीने में प्राप्त हुई थी।

टुंडी विधायक मथुरा प्रसाद महताे काे छाेड़कर

बाकी 5 विधायकाें ने 14 कराेड़ से अधिक की याेजनाअाें की अनुशंसा की है। इनमें 5 कराेड़ से अधिक याेजनाओं की स्वीकृति विकास शाखा से मिल गई है, जिस पर काम भी शुरू हाे गया है। वहीं पहली बार विधायक मद से सरकारी स्कूलों के बच्चों की किताबें खरीदी जाएंगी। बच्चाें की किताबों के लिए धनबाद विधायक राज सिन्हा ने 50 व निरसा विधायक अपर्णा सेनगुप्ता ने 40 लाख की राशि खर्च करने की अनुशंसा की है।

सालाना मिलते हैं 4-4 करोड़... इस बार ऐसे खर्च

सड़क, नाली, जलापूर्ति व शेड निर्माण में सबसे ज्यादा खर्च होगा विधायक निधि का पैसा

  • 2 करोड़ की सड़क, स्लैब, नाली, पीसीसी पथ के निर्माण की अनुशंसा
  • 50 लाख रुपए से जलापूर्ति व्यवस्था व चापाकल मरम्मत में खर्च की अनुशंसा

राज सिन्हा : अनुशंसा की राशि 4 कराेड़

  • 1 करोड़ से रणधीर वर्मा चाैक व अन्य जगहाें पर शेड और 10 सामुदायिक भवनों के निर्माण की अनुशंसा।

पूर्णिमा नीरज सिंह : 1.38 कराेड़ रुपए कुल अनुशंसा

  • 1.38 कराेड़ से राेड, नाली, सामुदायिक भवन, सार्वजनिक तालाब में चेंजिंग रूम, चबूतरा, शेड व जलापूर्ति पर खर्च की अनुशंसा।
  • 1.62 कराेड़ रुपए पिछले वित्तीय वर्ष में सर्वाधिक जलापूर्ति योजनाओं पर खर्च। सड़क, पुल व नाली पर भी 1.07 कराेड़ खर्च।

इंद्रजीत महतो : अनुशंसा- 4 कराेड़, स्वीकृत- 2.35 कराेड़

  • 1.4 कराेड़ से रोड, नाली, सामुदायिक भवन, श्मशान घाट में शेड निर्माण, चबूतरा, तालाब में सीढ़ी, चेंजिंग रूम की अनुशंसा।
  • 70 लाख पेयजल योजनाओं को लेकर अनुशंसा।
  • 25 लाख स्कूल, काॅलेज में शाैचालय व पीसीसी राेड निर्माण को लेकर अनुशंसा।
  • 2 करोड़ पिछले वित्तीय वर्ष में सर्वाधिक सड़क, पुल, पुलिया, नाली निर्माण में किए खर्च।

अपर्णा सेनगुप्ता : अनुशंसा-3.97 कराेड़, याेजनाएं: अप्राप्त

  • 2.85 कराेड़ से रोड, नाली, तालाब घाट, चेजिंग रूम, पुल, शेड की अनुशंसा।
  • 40 लाख से बच्चाें के लिए पुस्तक खरीद की सिफारिश।
  • 19 लाख काेलियरी क्षेत्र में टैंकरों से पानी सप्लाई।
  • 2.61 कराेड़ में पिछले वर्ष में सड़क, पुल, पुलिया, नाली व अन्य सिविल वर्क पर हुए थे सबसे अधिक खर्च।

ढुलू महतो : अनुशंसा 2.97 कराेड़, स्वीकृत योजनाएं 1.37 कराेड़ की

  • 2 करोड़ से सड़क, नाली, पेवर ब्लाॅक, सामुदायिक भवन, शेड निर्माण आदि काम पर खर्च की अनुशंसा।
  • 90 लाख रुपए पेयजल व्यवस्था, बीसीसीएल एरिया में टैंकर से पानी सप्लाई, चापाकल मरम्मत पर खर्च की अनुशंसा।
  • 7 लाख से स्कूलों में शौचालयों व चापाकल मरम्मत की अनुशंसा।
  • 3.34 करोड़ सड़क, पुल, पुलिया आदि सिविल वर्क पर सबसे अधिक खर्च किया था पिछले वर्ष में।

इस साल की योजनाओं की अनुशंसा दिसंबर में की जाएगी : मथुरा महतो

  • टुंडी विधायक मथुरा प्रसाद महताे का कहना है कि वर्ष 2021-22 में लौटाई गईं 250 याेजनाओं की संशाेधित रिपाेर्ट बनाने में विलंब हुआ। इस साल की याेजनाओं की अनुशंसा दिसंबर में करेंगे।
खबरें और भी हैं...