भास्कर एक्सक्लूसिव:बस्ताकाेला से चासनाला तक 50 हजार लाेगाें काे अगले वर्ष जनवरी से मिलने लगेगा पेयजल

जोरापोखर3 महीने पहलेलेखक: शंकर झा
  • कॉपी लिंक
झमाडा की ओर से बनाया जा रहा प्रोजेक्ट। - Dainik Bhaskar
झमाडा की ओर से बनाया जा रहा प्रोजेक्ट।

बस्ताकाेला, पुटकी से चासनाला तक लगभग 50 हजार की आबादी काे झमाडा वाटर सप्लाई याेजना से जलापूर्ति की जाएगी। इसके लिए वार्ड 33 से 52 तक हर गली-कुची में 350 किमी तक पाइपलाइन बिछानी है। इसमें 150 किमी तक पाइपलाइन बिछाई जा चुकी है।

310 करोड़ की झमाडा वाटर सप्लाई योजना से उपभोक्ताओं को अगले वर्ष जनवरी से पानी की आपूर्ति शुरू हाे जाएगी। उक्त प्रोजेक्ट का काम जेएमसी इंडिया प्राइवेट लिमिटेड द्वारा किया जा रहा है। इसका ऑन लाइन शिलान्यास पूर्व सीएम रघुवर दास ने 2019 में किया था।

झरिया विधायक पूर्णिमा सिंह ने उक्त याेजना का भूमि पूजन 7 मार्च 2021 काे किया था। उक्त याेजना के तहत झरिया विधान सभा क्षेत्र के साथ अन्य क्षेत्राें में लाेगाें के घराें तक पीने का पानी पहुंचाना है। झमाडा का अर्द्धनिर्मित जल संयंत्र केंद्र दिसंबर माह तक तैयार हो जाएंगे।

जल संयंत्र केंद्र के अंदर 4 प्लांटाें पर चल रहा निर्माण कार्य

1. केसकेड रियेटर : इसमें दामोदर नदी से रॉव वाटर उठा कर जमा किया जाएगा। इसका निर्माण हो चुका है। 2. फ्लेरी फोकलेटर : इसमें रॉव वाटर की सफाई की जाएगी। इसका निर्माण कार्य चल रहा है। 3. फिल्टर हाउस : इसमें सफाई किए गए पानी को पूरी तरह से शुद्ध किया जाएगा। इसके निर्माण के लिए खुदाई का काम किया जा रहा है। 4.अंडरग्राउंड रिजर्वर : इसमें शुद्ध पानी का जल भंडारण कर संप हाउस को भेजा जाएगा। इसके निर्माण की प्रक्रिया अभी शुरू नहीं हुई है।

इन चार स्थानाें पर बनाया जाएगा संप हाउस
वार्ड 33 से 52 तक की जनता को जलापूर्ति के लिए चार अंडरग्राउंड पानी की टंकी बनाए जाएंगे। पुटकी में एक संप हाउस का निर्माण होना है, जहां अभी तक कार्य भी नहीं शुरू हुआ है। झरिया माडा काॅलोनी में भी संप हाउस का निर्माण होना है।

यहां भी अभी तक कार्य शुरू नहीं हुआ है। करकेंद में संप हाउस निर्माण का कार्य शुरू किया गया है। वहीं भूलन बरारी में संप हाउस का निर्माण कार्य चल रहा है।

जेएमसी को जलापूर्ति के लिए बिछानी है पाइपलाइन
जेएमसी को इन सभी वार्डों में उपभोक्ताओं को पानी पहुंचाने के लिए 350 किमी तक पाइप लाइन बिछानी है। इनमें 120 किमी तक पाइपलाइन बिछाई जा चुकी है। 50 किलोमीटर तक पाइप की हाइड्रो टेस्टिंग की जा चुकी है।

इस वर्ष याेजना के तहत सभी काम जल्द हाेगा पूर्ण
हर-हाल में इस वर्ष योजना के तहत सभी कार्य पूर्ण कर लिया जाएगा। सभी बिंदुओं पर युद्ध स्तर से काम चल रहा है। वर्ष 2023 के जनवरी माह में उपभोक्ताओं के घर में जलापूर्ति होने लगेगी। इसको लेकर उपभोक्ताओं को भी जलापूर्ति का संयोग दिया जा रहा है।''
प्रभात कुमार गौतम, पीएम जेएमसी इंडिया प्राइवेट लिमिटेड

खबरें और भी हैं...