निगम ने बंद कराया काम:गेल गैस ने नहीं जमा की 50 लाख की बैंक गारंटी, शहर के छह स्थानों पर चल रहा था गैस पाइपलाइन बिछाने का काम,अब रुका

धनबाद8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

घर-घर डाेमेस्टिक पाइप्ड नेचुरल गैस (डीपीएनजी) पहुंचाने के काम में लगी गेल गैस लिमिटेड कंपनी काे नगर निगम ने गहरा झटका दिया है। निगम ने बिना एनओसी के निगम क्षेत्र में काम करने और विभाग द्वारा निर्धारित बैंक गारंटी की राशि जमा नहीं करने के आराेप में कंपनी के काम पर राेक लगा दी है।

नगर आयुक्त के निर्देश पर धनबाद शहर में छह स्थानाें पर चल रहे गैस पाइप बिछाने के काम काे निगमकर्मियाें ने बंद करा दिया है। गेल कंपनी काे बैंक गारंटी के एवज में एक साल का वार्षिक शुल्क 49 लाख 71 हजार रुपए निगम के खाते में जमा करने हैं, जिसे कंपनी ने जमा नहीं किया है, जिस कारण शुक्रवार काे कंपनी के काम काे बंद करा दिया गया है।

सूत्राें ने बताया कि बैंक गारंटी काे लेकर निगम द्वारा पिछले साल दिसंबर में दाे पत्र कंपनी काे भेजा था है। एक सप्ताह पूर्व कंपनी के अधिकारियाें काे बुलाकर भी बैंक गारंटी जमा करने काे कहा गया था।

पाइपलाइन बिछाने के लिए 20 रुपए प्रति मीटर शुल्क
निगम के अनुसार विभाग द्वारा माेबाइल कंपनियाें के लिए 10 रुपए प्रति मीटर और गैस कंपनी के लिए 20 रुपए प्रति मीटर की दर से शुल्क निर्धारित है। निर्धारित शुल्क जमा करने के बाद ही निगम द्वारा एनओसी दिया जाएगा। गेल कंपनी निगम क्षेत्र 2,48,570 मीटर गैस पाइप बिछाएगी। इतनी दूरी तक पाइप बिछाने के लिए गेल कंपनी काे 22 कराेड़ 37 लाख की बैंक गारंटी देनी है। वार्षिक बैंक गारंटी 49 लाख 71 हजार रुपए है। यहीं राशि कंपनी काे जमा करनी है।

खबरें और भी हैं...