जेईई एडवांस की परीक्षा:गणित के प्रश्नाें ने उलझाया तो रसायन के सवाल परीक्षार्थियों को लगे आसान

धनबाद8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बरवाअड्‌डा में परीक्षा देकर बाहर आतीं छात्राएं। - Dainik Bhaskar
बरवाअड्‌डा में परीक्षा देकर बाहर आतीं छात्राएं।
  • जिले के चार केंद्राें पर शांतिपूर्ण तरीके से हुई जेईई एडवांस की परीक्षा

आईआईटी आईएसएम, धनबाद सहित देश की सभी 23 आईआईटी में दाखिले काे लेकर रविवार काे जेईई एडवांस की परीक्षा जिले के चार केंद्राें पर हुई। आईआईटी धनबाद और पर्थ डिजिटल जोन कुसुम विहार में एक-एक और आयाेन डिजिटल जाेन आईडीजेड कुमारडीह बरवाअड्डा में दाे केंद्र थे। पहली पाली में पेपर एक की परीक्षा सुबह 9 से 12 बजे तक और दूसरी पाली में पेपर दाे की परीक्षा दिन के 2:30 से 5:30 बजे तक हुई। सभी केंद्राें पर परीक्षा शांतिपूर्ण हुई। कदाचार का काेई मामला सामने नहीं आया।

परीक्षा में धनबाद के अलावा गिरिडीह, काेडरमा जैसे आसपास के जिलाें के कुल 860 विद्यार्थियाें काे शामिल हाेना था, जिनमें करीब 60 अनुपस्थित रहे। दाेनाें पेपर में कुल 360 अंकाें की परीक्षा के लिए कुल 114 प्रश्न पूछे गए। दाेनाें पेपर में 180-180 अंकाें के लिए 57-57 प्रश्न थे। इनमें 19-19 प्रश्न भाैतिकी, रसायनशास्त्र और गणित के थे। विशेषज्ञाें के अनुसार कुल मिला कर प्रश्नपत्र का स्तर अच्छा था। गणित के कुछ प्रश्न औसत ताे कुछ कठिन थे। कुछ प्रश्न ऐसे थे, जिन्हें हल करने में परीक्षार्थियाें काे समय अधिक लगा। वहीं भाैतिकी के प्रश्न आसान थे। जबकि रसायनशास्त्र में इन-ऑर्गेनिक आसान व ऑर्गेनिक से संबंधित प्रश्न औसत थे।

आईआईटी धनबाद में 1125 सीटें, विदेशी के लिए 20% आरक्षित
जेईई एडवांस के माध्यम से बीटेक, इंटीग्रेटेड एमटेक आदि काेर्स में दाखिले के लिए आईआईटी आईएसएम, धनबाद में 1125 सीटे हैं। संस्थान के जेईई एडवांस के चेयरमैन प्राे शुभेंदु कुमार के मुताबिक 1125 सीटाें में करीब 20 प्रतिशत सीटें विदेशी विद्यार्थियाें के लिए आरक्षित रहेंगी। पहले भारतीय मूल का व्यक्ति (पीआईओ कार्ड धारक) और भारत के प्रवासी नागरिक (ओसीआई कार्ड धारक) काे पहले विदेशी अभ्यर्थी नहीं माना जाता था, जिनका अब विदेशी छात्र के ताैर पर दाखिला लिया जाएगा।

विशेषज्ञ के मुताबिक, ऐसा रह सकता है कट-ऑफ
विशेषज्ञ अजयवीर सिंह के अनुसार प्रश्न उम्मीद के मुताबिक ही पूछे गए। 11-12वीं में ठीक से पढ़े विद्यार्थियाें के लिए तुलनात्मक ताैर पर पेपर एक आसान था। कट-ऑफ काे लेकर अनुमान है कि 127-130 अंकाें पर रैंक 10 हजार तक और 170-175 अंक लाने वालाें का रैंक 2500 तक रह सकता है। वहीं 200 अंकाें से अधिक लाने वालाें का रैंक 1 हजार के अंदर रह सकता है।

खबरें और भी हैं...