पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ऑक्सीजन की कमी:सदर अस्पताल में एक साथ 500 मरीजाें काे दी जा सकेंगी सांसें

धनबाद15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 3-3 साै लीटर प्रति मिनट क्षमता के दाे ऑक्सीजन प्लांट हुए चालू, हर्ल की ओर से लगाए गए

काेराेना संक्रमण की तीसरी लहर से निबटने के लिए सदर अस्पताल में महत्वपूर्ण तैयारी पूरी हाे गई है। यहां लगाए गए 3-3 साै लीटर क्षमता वाले दाे ऑक्सीजन प्लांट शनिवार काे चालू हाे गए। काेराेना की दूसरी लहर के दाैरान ऑक्सीजन की कमी काे देखते हुए हर्ल कंपनी ने यहां दाे पीएसए (प्रेशर स्विंग एड्जाॅर्पशन) प्लांट लगाना शुरू किया था। अब दाेनाें प्लांट अधिकारिक रूप से सदर अस्पताल प्रबंधन काे साैंप दिए गए हैं।

यानी अब अस्पताल में प्रति मिनट 600 लीटर ऑक्सीजन जरूरतमंद मरीजाें काे देने की क्षमता उपलब्ध है। साथ ही, दूसरी लहर के बाद से अस्पताल में 500 से अधिक जंबाे और बी टाइप ऑक्सीजन सिलेंडर भी स्टाॅक में हैं। अस्पताल के नाेडल पदाधिकारी डाॅ राजकुमार सिंह कहते हैं कि अब 500 से अधिक मरीजाें काे जरूरत पड़ने पर ऑक्सीजन देने के लिए पर्याप्त व्यवस्था हाे गई है। हालांकि, अस्पताल में अभी 100 बेड ही हैं। अस्पताल में डीएमएफटी फंड से भी 1000 लीटर प्रति मिनट क्षमता का एक पीएसए प्लांट स्थापित किया जा रहा है।

सदर अस्पताल में जाे दाे ऑक्सीजन प्लांट चालू हाे गए हैं, उनसे अच्छी गुणवत्ता वाली गैस मिल रही है। प्लांटाें काे लगाने के बाद उनसे बनने वाली ऑक्सीजन की शुद्धता की जांच की गई। जांच में प्लांट की ऑक्सीजन गैस 92 फीसदी शुद्ध पाई गई।

इधर, मेडिकल काॅलेज अस्पताल में बन रहे 3 ऑक्सीजन प्लांट, दाे सप्ताहभर में शुरू हाेंगे
एसएनएमएमसीएच में भी 3 पीएसए प्लांट जल्द शुरू हाे सकते हैं। उनमें 3-3 साै लीटर प्रति मिनट क्षमता वाले दाे प्लांट तैयार हैं। जल्द अस्पताल के 300 बेड व कैथलैब काेविड अस्पताल के 200 बेडाें पर पाइपलाइन के जरिए मरीजाें काे ऑक्सीजन उपलब्ध कराई जा सकेगी। कैथलैब में 50 बेड की पीआईसीयू, 50 बेड की आईसीयू और 100 ऑक्सीजन सपाेर्टेड बेड तैयार किए जा रहे हैं।

सेंट्रल अस्पताल : 1-1 हजार एलपीएम के 2 प्लांटाें का टेंडर

सेंट्रल अस्पताल में भी 1000-1000 एलपीएम के दाे पीएसए प्लांट लगाए जा रहे हैं। 40 आईसीयू व 100 ऑक्सीजन सपाेर्टेड बेड का इंतजाम किया गया है।

निजी अस्पताल : एक को छोड़ सभी बरत रहे हैं उदासीनता

50 बेड वाले सभी निजी अस्पतालाें काे ऑक्सीजन प्लांट लगाने का निर्देश है, पर असर्फी हॉस्पिटल काे छाेड़ किसी अस्पताल में ऑक्सीजन प्लांट नहीं लगा।

खबरें और भी हैं...