पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • In The Corona Era, 1925 People Asked For Trade License From Municipal Corporation, Some Opened E commerce Company And Some Started Plantation

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

आपदा को अवसर में बदला:कोरोना काल में 1925 लोगों ने नगर निगम से मांगा ट्रेड लाइसेंस, किसी ने खोली ई-काॅमर्स कंपनी तो किसी ने शुरू किया प्लांटेशन

धनबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कोरोनाकाल में नौकरी जाने पर स्वयं के हुनर को पहचान शुरू किया कारोबार, बन रहे आत्मनिर्भर

कहते हैं...बुरे वक्त में इंसान ने कई बार ऐसे काम कर दिए, जो वह अच्छे दिनों में सोच भी नहीं सकता था। कोरोनाकाल एक ऐसा ही बुरा वक्त साबित हुआ। लॉकडाउन के कारण कंपनियों का कारोबार प्रभावित हुआ। कर्मचारियों की छंटनी हुई। रातों-रात लोग बेरोजगार हो गए। महानगरों में नौकरी करने वाले लोगों को अपने गांव व शहर लौटना पड़ा। नौकरी खोकर लौटे कई लोगों ने इस आपदा को अवसर में बदलने का निर्णय किया। उन्होंने एक नई शुरुआत की। धनबाद नगर निगम से प्राप्त आंकड़े बताते हैं कि कोरोनाकाल के 7 माह में 1925 लोगों ने नया कारोबार शुरू करने के मकसद से ट्रेड लाइसेंस मांगा। निगम के द्वारा इस साल अप्रैल से 31 अक्टूबर तक कुल 3210 लाेगाें काे ट्रेड लाइसेंस निर्गत किया गया। इनमें 1925 लाेगों ने पहली बार ट्रेड लाइसेंस बनवाया है।

आपदा को अवसर बनाने वाले दो लोगों की कहानी...
बेरोजगारी में खाेली ई-काॅमर्स कंपनी

धनबाद के आकर्षण अराेड़ा काेलकाता में आईबीएम कंपनी में नाैकरी कर रहे थे। हर महीने करीब 25 हजार रुपए वेतन मिलता था। लाॅकडाउन में 2 जुलाई काे उनकी नाैकरी चली गयी। वे धनबाद लौट गए। यहां उन्हाेंने 15 अगस्त से खुद की ई-काॅमर्स कंपनी शुरू की। कंपनी के माध्यम से छाेटी कंपनियाें के सामान उपलब्ध कराए। अपनी ई-काॅमर्स कंपनी से उन व्यापारियाें काे जाेड़ने की काेशिश की, जिनका व्यापार काेविड-19 के दाैर में मंदा हाे गया था। उनकी कंपनी से करीब 3 हजार व्यापारी/दुकानदार जुड़े हैं। 15-16 हजार के करीब प्राेडक्ट हैं।

शुरू किया प्लांटेशन का स्टार्टअप

निरसा के गाेपीनाथ साहू नन-बैंकिंग कंपनी में काम करते थे। लाॅकडाउन के दाैरान नाैकरी छूट गई। वह कहते हैं कि क्या करें... इसी सोच में घर के दरवाजे पर बैठे थे। ठीक सामने वाले घर के एक आदमी काे पाैधा लगाते देखा और साेचा ये काम क्यों नहीं कर सकते हैं। उन्होंने गमला बनाने वालाें से संपर्क किया। दूसरी ओर साेशल मीडिया पर लाेगाें से प्लांटेशन पर चर्चा की। इस दाैरान कई लाेगाें ने यह भी बताया कि काफी काेशिशाें के बावजूद पाैधा लगता ही नहीं है। तब शर्त रखी कि पाैधा कुछ दिनाें में तैयार हाे जाने के बाद ही ग्राहकाें से भुगतान लेंगे। ऑर्डर मिलने लगे। कारोबार चल पड़ा।

दो वर्षों में जितने नए लाइसेंस बने थे, उससे अधिक सात माह में बने
पिछले दो सालों में जितना नया ट्रेड लाइसेंस बना, उससे अधिक ट्रेड लाइसेंस सिर्फ कोरोनाकाल के 7 माह में बना है। निगम के अफसराें की माने ताे पिछले साल अप्रैल 2019 से लेकर 31 मार्च 2020 तक कुल 350 लोगों ने नए लाइसेंस बनाए थे। जबकि इस साल केवल सात माह में ही 1925 लाेगाें ने नया लाइसेंस बना लिया है। नए लाइसेंस बनाने वाले में उनकी संख्या सबसे अधिक है, जाे लाॅकडाउन के पहले दिल्ली, मुबंई, पुणे, चेन्नई, हरियाणा, पंजाब और दक्षिण भारत के शहराें में काम करते थे।

फूड स्टाॅल पर अधिक फाेकस

पहले अधिकतर लाेग बाइक सर्विंस सेंटर, माेबाइल रिपेयरिंग सेंटर, साइबर कैफे, सैलुन समेत अन्य तरह के काराेबार के लिए लाइसेंस लेते थे। लाॅकडाउन के बाद अधिकतर लाेगाें का पसंद फास्ट फूड स्टाॅल बन गया है। निगम कार्यालय में 100 में 62 आवेदन फूड स्टाॅल के लिए आए।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपने अपनी दिनचर्या से संबंधित जो योजनाएं बनाई है, उन्हें किसी से भी शेयर ना करें। तथा चुपचाप शांतिपूर्ण तरीके से कार्य करने से आपको अवश्य ही सफलता मिलेगी। परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर ज...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser