महिला डॉक्टरों के साथ बदसलूकी:जूनियर डॉक्टरों ने सुरक्षा मांगी, डीसी से की गई शिकायत

धनबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस की तैनाती के को लेकर डीसी से मिलने पहुंचे जूनियर डॉक्टर। - Dainik Bhaskar
पुलिस की तैनाती के को लेकर डीसी से मिलने पहुंचे जूनियर डॉक्टर।

एसएनएमएमसीएच के इमरजेंसी वार्ड में नन्हें खान की माैत काे लेकर हंगामा हुआ। आराेप है कि माैत की घाेषणा करने के बाद नन्हें के साथ आए लाेग उग्र हाे गए और हंगामा करने लगे। विरोध करने पर चिकित्सकाें काे मारने की धमकी दी गई। डॉक्टर और कर्मियाें के समझाने के बाद भी लाेग बात मानने काे तैयार नहीं थे। यह भी आराेप है कि इमरजेंसी वार्ड के डॉक्टर्स रूम में घूसकर महिला जूनियर डॉक्टरों के साथ बदसलूकी की गई, उनके बाल तक खिंचे गए। लाेगाें ने सामान काे भी फेंक दिया।

मामला अनियंत्रित हाेता देख वे काम छाेड़ कर चले गए। घटना की शिकायत अधीक्षक डाॅ एके वर्णवाल से करते हुए जूनियर डाक्टराें ने सुरक्षा की मांग की। कहा कि सुरक्षा नहीं मिलने पर आदाेलन करने काे बाध्य हाेंगे। अधीक्षक ने कहा कि कई बार सुरक्षा की मांग की गई है लेकिन अब तक कोई पहल नहीं हुई है। उपायुक्त के समक्ष फिर से अपनी बात रखेंगे।

उपायुक्त से मिलने आवास पहुंचे जूनियर डाॅक्टर
घटना के बाद दर्जनों की संख्या में जूनियर डाॅक्टर देर शाम डीसी आवास पहुंचे। डीसी काे घटना की पूरी जानकारी दी। जूनियर डॉक्टरों का कहना था कि अस्पताल में आए दिन हंगामा होता रहता है। जिससे डाॅक्टाराें काे ड्यूटी करना मुश्किल हाे गया है। अस्पातल में भर्ती मरीज भी घटना का शिकार हाेते हैं। ऐसा नियम बनाएं कि मरीज के साथ केवल एक अटेंडेंड को ही अस्पताल में प्रवेश की अनुमति मिले। डॉक्टरों की सुरक्षा का जिम्मा जिला प्रशासन ले।

मूक दर्शक रहे सुरक्षाकर्मी
बताया जा रहा है कि इमरजेंसी में दर्जनाें की संख्या में लाेग हंगामा किया लेकिन माैके पर माैजूद सुरक्षाकर्मी मूक दर्शक बने रहे। प्रबंधन की सूचना पर पुलिस माैके पर पहुंची, बावजूद इसके वे शांत नहीं हुए।

^एसएनएनएमसीएच के डाॅक्टराें ने दुर्व्यवहार की शिकायत की है। इस मामले में जल्द ही दाेषी व्यक्तियाें की पहचान कर सख्त कार्रवाई की जाएगी। एसएसपी और एडीएम लाॅ एंड ऑर्डर काे दाेषी व्यक्तियाें की पहचान कर प्राथमिकी दर्ज कर कानूनी कार्रवाई का निर्देश दिया गया है।''
संदीप सिंह, डीसी धनबाद।

खबरें और भी हैं...