जीटी रोड:पुल-पुलिया पर हादसे रोकने के लिए 10 जगहों पर लगाए गए मेटल बीम क्रैश बैरियर

धनबादएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जीटी रोड पर पुल-पुलियाें पर होने वाले हादसे को रोकने के लिए एनएचएआई के द्वारा मेटल बीम क्रैश बैरियर लगाया जा रहा है। फिलहाल दस जगहों पर लगाया जा चुका है। बाकी जगहों पर इसको लगाने की प्रक्रिया की जा रही है। एनएचएआई दुर्गापुर के हाइवे इंजीनियर लालमुनि प्रताप सिंह के मुताबिक सड़क हादसों को रोकने के लिए कई उपाय किए जा रहे हैं।

काला डाबर में हुई दुर्घटना के बाद जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में यह मुद्दा उठा था। डीसी ने घटना के कारणों की जांच के लिए जिला प्रशासन, परिवहन विभाग, पुलिस और एनएचआई के अधिकारियों ने पुल-पुलियाें का निरीक्षण कर दुर्घटना के कारणों के बारे में जानकारी हासिल करने को कहा था। जांच में सामने आई थी कि मेटल बीम क्रैश बैरियर नहीं होने की वजह से दुर्घटना होने की बात सामने आई थी। इसके बाद से ही उक्त स्थानों पर बैरियर लगाया जा रहा है।

इन जगहों पर लगए जा चुके हैं बैरियर

जीटी रोड पर कोलकाता जाने वाले वाली सड़क के कालाडीह में 24 मीटर, फकीरडीह में दाेनाें तरफ 56 एवं 28 मीटर, कालीमाटी में 12 व 32 मीटर, संजय चौक पर 24 मीटर, खुदियाडीह फाटक के पास 24 मीटर, दिल्ली जाने वाले मार्ग पर शासनबेडिया में 44 मीटर, मुगमा में दाे जगहों पर 16 व 28 मीटर।

जहां से ढलान शुरू, वहीं से लगाया जा रहा है बैरियर
इंजीनियर लालमुनि सिंह ने बताया कि पुल-पुलिया के पास जहां ढलान शुरू होती है। वहीं से मेटल बीम क्रैश बैरियर लगाया जा रहा है। कारण यह है कि कार अनियंत्रित हो कर पुल-पुलिया के नीचे गिरती है। जिसमें मौतें होती है। बैरियर लगने से कार के टकराने से जान माल की क्षति होने की कम आशंका हाेगी। वाहन पुल के नीचे नहीं गिरेंगे।

  • इन हादसे में गई थीं 5-5 जानें

पहला
26 मई को बरवापूर्व में खुदिया नदी में बिहार से बंगाल जा रही कार गिर गई थी। इस हादसे में 5 लोगों की जान चली गई थी।

दूसरा

22 नवंबर को बोकारो से आसनसोल जा रही कार कौआबांध में काला डाबर के पास पुल से गिर गई थी। 5 लोग मारे गए थे।

खबरें और भी हैं...