पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मुश्किल राह:धनबाद-सिंदरी 25 किमी लंबी फोर लेन सड़क में 200 से अधिक गड्ढ़े, बरसात के बाद पानी भरने से बन रहे जानलेवा

धनबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
झरिया-सिन्दरी मुख्य मार्ग में सड़क पर बने गड्‌ढे और जल जमाव। - Dainik Bhaskar
झरिया-सिन्दरी मुख्य मार्ग में सड़क पर बने गड्‌ढे और जल जमाव।
  • बालकृष्ण भलाेटिया कंस्ट्रक्शन कंपनी ने 2018 में बनाई थी सड़क, 2020 में आसीडी से एनएच को हो गई ट्रांसफर

धनबाद-सिंदरी 25 किलोमीटर फोर लेन सड़क में गड्ढ़े ही गड्ढ़े हैं। बैंक मोड़ से बीआईटी सिंदरी तक 200 से अधिक गड्ढ़े हैं। अगर आप इस सड़क से जा रहे हैं तो संभल कर चलें...। खासकर बरसात में। कारण... गड्ढों में पानी भर जाने के कारण... आपको पता ही नहीं चल पाएगा कि कहां सड़क और कहां गड्ढ़ा। जबकि इस सड़क को बने हुए तीन साल भी नहीं हुए हैं। 2016 में यह सड़क बननी शुरू हुई और मई 2018 में सड़क कंप्लीट हुई। सड़क निर्माण पर 44.83 करोड़ रुपए खर्च हुए।

लेकिन तीन साल में यह सड़क-सड़क जर्जर हो गई। दैनिक भास्कर की टीम ने जब इस सड़क की पड़ताल की तो गड्ढों के आंकड़े सामने आए। धनसार मोड़ से लेकर जोरापोखर थाना तक 7 किलोमीटर सड़क में दोनों साइड गिनकर 148 से अधिक गड्ढे हैं। बस्ताकोला के पास एना इस्लामपुर और सिंदरी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के पास बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं। लोगों को इस सड़क पर चलना मुश्किल हो गया है। आए दिन गाड़ियां दुर्घटनाग्रस्त हो जा रही हैं। कई लोग हॉस्पिटलाइज हो चुके हैं। कई लोगों के पैर-हाथ टूट गए हैं। लेकिन विभागीय अधिकारियों को इसकी फिक्र नहीं है।

टूटी सड़क पर रोज हो रहे हादसे, दोपहिया वाहनों को ज्यादा दिक्कत

एनएच की सड़क की कंस्ट्रक्शन और मेंटेनेंस की जिम्मेवारी उसकी: आरसीडी
धनबाद-सिंदरी रोड पहले आरसीडी (राेड कंस्ट्रक्शन डिपार्टमेंट) के पास थी। 2018 में इस सड़क को बालकृष्ण भालोटिया कंस्ट्रक्शन कंपनी ने बनाया था। विभाग के कनीय अभियंता अनिल कुमार का कहना है कि करार के तहत कंस्ट्रक्शन कंपनी को 30 जून 2019 तक मेंटेनेंस का काम करना था। कंपनी ने मेंटेनेंस भी किया। राज्य सरकार के निर्देश पर 2020 में यह सड़क नेशनल हाइवे को सौंप दी गई। बैंक मोड़ से चंदनकियारी-बाेकाराे तक यह सड़क एनएच-218 हो गई है। अब इस रोड के कंस्ट्रक्शन और मेंटेनेंस की जिम्मेवारी एनएच की है।

टेंडर प्रक्रिया पूरी हो गई, एक सप्ताह में वर्क आर्डर हो जाएगा: एनएच ईई
नेशनल हाइवे के प्रभारी कार्यपालक अभियंता दिलीप कुमार साहा का कहना है कि जगह-जगह गड्ढों का कारण झमाडा की पाइप लाइन है। जगह-जगह पाइप लाइन में लीकेज के कारण सड़क पर गड्ढे हो गए हैं। विभाग जल्द ही इस सड़क का निर्माण शुरू करेगा। बैंक मोड़ से चंदनकियारी तक एनएच-218 के कंस्ट्रक्शन की टेंडर प्रक्रिया पूरी हो गई है। डीपीआर के तहत 56 करोड़ रुपए खर्च का अनुमान है। ओडिसा की फॉरच्यून कंपनी को इसका काम दिया गया है। 7-8 दिनों में एनएच कंपनी को वर्क आर्डर दे देगा। इसके बाद निर्माण कार्य शुरू हाे जाएगा।

सड़क सुरक्षा समिति में भी उठ चुका है मामला
बैंकमोड़ से सिंदरी तक रोड में हुए गड्ढे का मामला जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में उठ चुका है। सड़क सुरक्षा समिति के अध्यक्ष सह सांसद पीएन सिंह कई बार इस मामले के उठा चुके हैं। इसे लेकर जिला प्रशासन पथ निर्माण विभाग के अधिकारियों को फटकार लगा चुका है। गड्ढों को भरने का निर्देश भी दिया गया। खानापूर्ति के लिए विभाग ने कुछ जगहों पर गड्ढे को भर भी दिया। लेकिन, सडक की स्थिति नहीं सुधरी।

खबरें और भी हैं...