पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

महाअष्टमी आज:सुबह 11:27 बजे से नवमी, रविवार को सुबह 11:15 से शुरू होगी दशमी तिथि

धनबादएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
महासप्तमी में भक्तों को मां दुर्गा ने दर्शन दिए। जिलेभर के सभी पूजा पंडाल व प्रतिमाओं के आवरण खुल गए। शनिवार को महाष्टमी है। सरकार की जारी गाइडलाइन के अनुरूप ही भक्त मां की आराधना कर पाएंगे। फोटो- डीएवी पुराना बाजार
  • संधि पूजा के लिए आज दिन के 11:03 से 11:51 बजे तक शुभ मुहूर्त

नवरात्र की महासप्तमी पर शुक्रवार काे कालरात्रि माता की पूजा-अर्चना की गई। देवी पुराण के अनुसार नवदुर्गा का यह 7वां स्वरूप है। ऋषिकेश पंचांग में शुक्रवार काे दिन में 12:09 बजे तथा मिथिला पंचांग में 12:21 बजे से महाअष्टमी तिथि प्रवेश कर गई है। ऋषिकेश, मिथिला और बांग्ला पंचांगों के अनुसार शनिवार काे महाअष्टमी मनाई जाएगी। वहीं दिन के 11.27 बजे से महानवमी शुरू हो जाएगी। रविवार को दिन के 11.15 बजे से दशमी की तिथि आरंभ होगी।

पंडित सुधीर पाठक का कहना है कि शनिवार काे दिन के 11.03 से 11:51 बजे तक संधि पूजा शुभ है। वहीं महानवमी और विजयादशमी काे लेकर ऋषिकेश, मिथिला और बांग्ला पंचांग में अलग-अलग समयसारणी है। ऋषिकेश पंचांग के अनुसार नवमी और विजयादशमी तिथि रविवार काे मनाई जाएगी। जयंती धारण और कलश विसर्जन उसी दिन हाेगी, लेकिन प्रतिमा विसर्जन साेमवार को होगी।

दूसरी तरफ मिथिला व बांग्ला पंचांग के अनुसार रविवार काे महानवमी तथा साेमवार काे विजयादशमी मनाई जाएगी। जयंती धारण और मूर्ति विसर्जन साेमवार काे ही हाेगा। इधर जिला प्रशासन ने भी साेमवार काे ही मूर्ति विसर्जन के लिए गाइडलाइन जारी की है।

कलश विसर्जन के लिए रविवार का दिन उत्तम, सोमवार को विदा होंगी मां दुर्गा

ऋ षिकेश पंचांग: श्रवणा नक्षत्र पर मां दुर्गा स्वर्गलाेक जाती हैं, इसलिए रविवार काे दशमी

पंडित रमेश चंद्र त्रिपाठी व पंडित सुधीर पाठक का कहना है कि देवी पुराण के अनुसार श्रवणा नक्षत्र में माता दुर्गा पृथ्वीलाेक से स्वर्गलाेक के लिए प्रस्थान करती हैं। श्रवणा नक्षत्र शनिवार सुबह 6:44 बजे से लेकर रविवार सुबह 7:05 बजे तक ही है। इसलिए विजयादशमी रविवार काे ही मनाई जाएगी। रविवार काे बेटी की विदाई नहीं होती है। इसलिए साेमवार काे प्रतिमाएं विसर्जित होंगी।

बांग्ला-मिथिला पंचांग: रेवती नक्षत्र में विदा होती हैं मां, इसलिए साेमवार काे विजयादशमी

ज्याेतिषाचार्य डाॅ गाेपाल कृष्ण झा का कहना है कि मिथिला पंचांग में रेवती नक्षत्र पर माता दुर्गा की विदाई की परंपरा है। श्रवणा नक्षत्र में बेटी की विदाई नहीं की जाती है। उदया तिथि के आधार पर भी विजयादशमी साेमवार काे ही पड़ रही है। इन दाेनाें कारणाें से विजयादशमी साेमवार काे ही मनाई जाएगी। बंगाली वेलफेयर सोसायटी के गोपाल भट्टाचार्य के अनुसार बांग्ला पंचांग में भी साेमवार काे ही विजयादशमी मनाई जाएगी।

ऋषिकेश, मिथिला व बांग्ला पंचांगाें में विभिन्न तिथि

ऋषिकेश पंचांग

अष्टमी तिथि : शुक्रवार काे दाेपहर 12:09 बजे से शनिवार दाेपहर 11:27 बजे तक नवमी तिथि : शनिवार 11:28 बजे से रविवार 11:14 बजे तक दशमी तिथि : रविवार 11:15 बजे से साेमवार 11:30 बजे तक

मिथिला पंचांग

अष्टमी तिथि : शुक्रवार काे दाेपहर 12:21 बजे से शनिवार दाेपहर 11:45 बजे तक नवमी तिथि : शनिवार 11:45 बजे से रविवार 11:25 बजे तक दशमी तिथि : रविवार 11:25 बजे से साेमवार 11:45 बजे तक

बांग्ला पंचाग

अष्टमी तिथि : शुक्रवार दाेपहर 12:11 बजे से शनिवार पूर्वाह्न दाेपहर 11:24 बजे तक नवमी तिथि : शनिवार 11:25 बजे से रविवार 3:06 बजे तक दशमी तिथि: रविवार दिन के 3:07 से साेमवार 11:31 बजे तक

सोमवार को भी छुट्टी, तीन दिनाें का सरकारी अवकाश

राज्य सरकार ने दुर्गा पूजा पर तीन दिनाें के अवकाश की घाेषणा की है। शनिवार, रविवार और साेमवार को अवकाश घाेषित किया गया है। पूर्व में विभाग ने नवमी-दशमी एक दिन हाेने के कारण शनिवार और रविवार काे ही सरकारी अवकाश घाेषित किया था। डीसी उमा शंकर सिंह का कहना है कि मजिस्ट्रेट ड्यूटी पर लगाए गए अधिकारियाें के लिए सरकारी अवकाश की घाेषणा मान्य नहीं हाेगी।

इस बार कहीं नहीं होगा रावण दहन

काेराेना काे लेकर राज्य सरकार के निर्देशानुसार विजयादशमी पर हाेेने वाला रावण दहन नहीं हाेगा। डीसी का कहना है कि राज्य सरकार के निर्देश पर जिले के सभी पूजा कमेटियाें काे रावण दहन का कार्यक्रम स्थगित करने का आदेश दिया गया है। इधर जिले की विभिन्न पूजा कमेटियाें ने भी रावण दहन कार्यक्रम नहीं करने का निर्णय लिया है। सिंदरी शिव मंदिर परिसर में 65 वर्षाें से रावण दहन का कार्यक्रम होता रहा है।

​​​​​​​संयाेजक दिनेश सिंह का कहना है कि इस बार रावण दहन कार्यक्रम नहीं हाेगा। भूली में वर्ष 2000 से 40 फीट ऊंचे रावण का दहन हाेता था। कार्यक्रम के अध्यक्ष शशि भूषण सिंह का कहना है कि इस बार कार्यक्रम नहीं हाेगा। टाटा मालकेरा फुटबॉल मैदान में 2010 से रावण दहन की परंपरा शुरूहुई। टाटा मालकेरा दुर्गा पूजा कमेटी के सचिव राकेश सिंह का कहना है सरकार के निर्देश पर रावण दहन कार्यक्रम काे स्थगित कर दिया गया है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- परिस्थिति तथा समय में तालमेल बिठाकर कार्य करने में सक्षम रहेंगे। माता-पिता तथा बुजुर्गों के प्रति मन में सेवा भाव बना रहेगा। विद्यार्थी तथा युवा अपने अध्ययन तथा कैरियर के प्रति पूरी तरह फोकस ...

और पढ़ें