शोध काे बढ़ावा:अब स्टूडेंट, युवा; दुकानदार व आम आदमी भी आईआईटी में कर सकेंगे शाेध व स्टार्टअप

धनबाद6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • आआईटी आईएसएम में शोध काे बढ़ावा देने के लिए अटल कम्युनिटी इनोवशेन सेंटर का किया गया निर्माण
  • नीति आयाेग के निर्देश पर एक करोड़ का मिला फंड

समाज में शाेध व स्टार्टअप काे बढ़ावा देने काे लेकर आईआईटी आईएसएम, धनबाद में नीति आयाेग के दिशा-निर्देश पर अटल कम्युनिटी इनाेवेशन सेंटर (एसीआईसी) की स्थापना की गई है। मैनेजमेंट स्टडीज विभागाधय्क्ष प्राे साैम्या सिंह ने बताया कि सेंटर काे 5 कराेड़ रुपए का फंड मिलना है, जिसमें पहली किश्त की राशि मिल चुकी है। करीब एक कराेड़ रुपए का फंड मिल चुका है।

सेंटर का संचालन सेक्शन 8 कंपनी के ताैर पर किया जाएगा, जिसका स्पांसर संयुक्त ताैर पर नीति आयाेग और आईआईटी धनबाद है। यह सेंटर जन-साधारण के लिए है, जहां शाेध से अधिक उद्यमिता पर जाेर दिया जाएगा। सेंटर में मेंटरशिप दिया जाएगा, प्रशिक्षण और तकनीकी सुविधा भी जाएगी। स्टूडेंट, युवा, दुकानदार या काेई भी आम आदमी, सेंटर में सबकाे बराबर अवसर मिलेंगे।

अकाउंट एग्ज्यूटिव

एक पद पर भर्ती हाेगी। चयनित अभ्यर्थी की सेवा की अवधि 3 वर्षाें की हाेगी, जिसे बाद में बढ़ाया भी जा सकता है। इसके लिए शैक्षणिक याेग्यता सीए या आईसीडब्ल्यूए है और न्यूनतम 3 वर्षाें का अकाउंटेंट या अन्य वित्तीय पद का कार्यानुभव भी हाेना चाहिए। चयनित अभ्यर्थी काे 40 हजार रुपये प्रतिमाह मानदेय मिलेगा। इसके लिए 15 मई तक ऑनलाइन आवेदन किया जा सकता है।

खबरें और भी हैं...