पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

निर्देश दिया:प्रवासियों की अब कोरोना जांच पॉलिटेक्निक में ही, दूसरे राज्यों से आने पर होम आइसोलेशन नहीं

धनबादएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • सात दिनाें के बाद फिर से उनकी काेराेना जांच की जाएगी

धनबाद पॉलिटेक्निक कॉलेज काे जिलास्तरीय क्वारेंटाइन सेंटर बनाया जाएगा, जहां अन्य राज्याें से आने वाले प्रवासी मजदूराें काे ठहराया जाएगा। वहां उनकी काेराेना जांच हाेगी। पाॅजिटिव आने पर काेविड अस्पताल में भर्ती किया जाएगा। निगेटिव आने पर संबंधित प्रखंड के क्वारेंटाइन सेंटर भेज दिया जाएगा, जहां वे 7 दिनाें तक क्वारेंटाइन में रहेंगे। सात दिनाें के बाद फिर से उनकी काेराेना जांच की जाएगी। रिपाेर्ट आने के बाद उन्हें घर भेजा जाएगा।

जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकार के अध्यक्ष सह डीसी उमा शंकर सिंह ने शुक्रवार काे प्रवासी मजदूराें के क्वारेंटाइन सेंटर काे लेकर वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से एसएसपी, डीटीओ, एनडीसी, सभी बीडीओ व सीओ, आइडीएसपी तथा डीपीएम के साथ बैठक की, जिसमें उनके ठहरने सहित अन्य सुविधाओं काे लेकर दिशा-निर्देश दिया। इसको लेकर दंडाधिकारियों की भी प्रतिनियुक्ति की गई है। डीसी ने बताया कि हर प्रखंड में दो-दो संस्थागत क्वारेंटाइन सेंटर्स बनाने का निर्देश दिया गया है। प्रवासी श्रमिकों का आरएटी से काेविड जांच हाेगी। पॉजिटिव आने पर आईसीएमआर की गाइडलाइन के अनुसार ऑक्सीजन सपोर्टेड बेड वाले कोविड सेंटर में भर्ती किया जाएगा। प्रवासी श्रमिक को होम आइसोलेशन की सुविधा नहीं देनी है। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में एसएसपी असीम विक्रांत मिंज, डीटीओ ओम प्रकाश यादव, एनडीसी अनुज बांडो सहित अन्य अधिकारी शामिल थे।

खबरें और भी हैं...