पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • On 14th, Makar Sankranti Will Be Celebrated, At 2:05 Pm Sun Will Move From Sagittarius To Capricorn, Sun Will Be In Uttarayan Constellation Uttarayan

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मुहूर्त:14 को मनाई जाएगी मकर संक्रांति, दाेपहर 2:05 बजे धनु से मकर राशि में जाएंगे सूर्य, श्रवणा नक्षत्र में सूर्य हाेंगे उत्तरायण

धनबाद10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • 7 घंटे पहले से 7 घंटे बाद तक दान-पुण्य करना होगा श्रेष्ठ
  • सूर्य गुरुवार से ही उत्तरायण हाे जाएंगे और एक महीने का खरमास समाप्त हाे जाएगा

सिख समाज का प्रमुख त्याेहार लाेहड़ी बुधवार काे और दान-पुण्य का पर्व मकर संक्रांति गुरुवार काे पड़ रहा है। ऋषिकेश पंचांग के मुताबिक पाैष शुक्ल पक्ष प्रतिपदा यानी 14 जनवरी काे दाेपहर में 2:37 बजे और मिथिला पंचांग में 2:05 बजे के बाद सूर्य का प्रवेश धनु राशि से मकर राशि में हाेगा। सूर्य गुरुवार से ही उत्तरायण हाे जाएंगे और एक महीने का खरमास समाप्त हाे जाएगा। सभी तरह के शुभ कार्य शुरू हाे जाएंगे। ज्याेतिषाचार्य डाॅ गाेपाल कृष्ण झा और पंडित रमेश चंद्र त्रिपाठी का कहना है कि सूर्य पुराण और हिंदू शास्त्राें में सूर्य के मकर राशि में प्रवेश के 7 घंटे पहले से 7 घंटे बाद तक दान-पुण्य का विशेष महत्व बताया गया है। यानी गुरुवार सुबह 7 बजे के बाद मकर संक्रांति पर स्नान-ध्यान और दान-पुण्य करना श्रेष्ठ हाेगा।

शक्ति मंदिर परिसर में आज मनाई जाएगी लाेहड़ी

मंदिर कमेटी के पदाधिकारी और आजीवन सदस्य ही शामिल हाे सकेंगे। धनबाद में रहनेवाले पंजाबी हिंदू और सिख समाज के लाेग बुधवार काे लाेहड़ी पर्व मनाएंगे। नई फसल कटने के अवसर पर मनाई जानेवाली लाेहड़ी नवविवाहिताें के लिए बहुत शुभकारी मानी जाती है। मंदिर कमेटी के संयुक्त सचिव सुरेंद्र अराेड़ा का कहना है कि वैश्विक महामारी काेराेना काे देखते हुए सामाजिक दूरी के साथ लाेहड़ी मनाई जाएगी। बुधवार शाम 7:15 बजे मंत्राेच्चारण के साथ लाेहड़ी में अग्नि प्रज्वलित की जाएगी और सादगी के साथ पर्व मनाया जाएगा। सांस्कृतिक कार्यक्रम नहीं हाेंगे। आयाेजन में मंदिर कमेटी के पदाधिकारी और आजीवन सदस्य ही शामिल हाे सकेंगे। बाहरी लाेगाें का प्रवेश वर्जित रहेगा। साेशल मीडिया में कार्यक्रम का सीधा प्रसारण किया जाएगा।

काला तिल-गुड़, तेल और कंबल का दान शुभ

शास्त्राें में मकर संक्रांति पर्व पर काला तिल, गुड़, कंबल आदि का ब्राह्मणाें और जरूरतमंदाें काे दान करना शुभ माना गया है। शनि दाेष व अन्य अनिष्टकारी ग्रहाें से निवारण से संबंधित हाेने की वजह से मकर संक्रांति काे खिचड़ी का पर्व भी कहा जाता है। इसलिए स्नान-ध्यान के बाद जरूरतमंदाें के बीच उड़द दाल में बनी खिचड़ी खिलाने से पुण्य हाेता और शनि दाेष का भी निवारण हाेता है। गुरुवार काे अगर अगर खिचड़ी का दान नहीं कर पाते हैं, ताे शुक्रवार काे भी खिचड़ी का दान कर सकते हैं।

विष्णु, सूर्य और शनि की रहेगी विशेष कृपा

पंडित सुधीर पाठक कहते हैं कि बुधवार शाम 5:31 बजे से गुरुवार शाम 5:21 बजे तक श्रवणा नक्षत्र है। श्रवणा नक्षत्र में सूर्य का उत्तरायण हाेना शुभकारी है। अनिष्ट चीजाें से मुक्ति मिलेगी। गुरुवार का दिन भगवान विष्णु का माना जाता है। ऐसी मान्यता है कि मकर संक्रांति काे ही शनि देव काला तिल लेकर अपने क्राेधित पिता सूर्यदेव से मिलने आए थे। इसलिए सूर्य और शनि के साथ श्रद्धालुओं पर भगवान विष्णु की भी असीम कृपा रहेगी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कोई लाभदायक यात्रा संपन्न हो सकती है। अत्यधिक व्यस्तता के कारण घर पर तो समय व्यतीत नहीं कर पाएंगे, परंतु अपने बहुत से महत्वपूर्ण काम निपटाने में सफल होंगे। कोई भूमि संबंधी लाभ भी होने के य...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser