पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ऑक्सीजन के सहारे:मेडिकल कॉलेज के बाहर बच्चे को गोद में लिए विवश आंखों से डॉक्टर की राह तकती रही मां

धनबाद18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • एंबुलेंस में अाॅक्सीजन सपोर्ट पर था नवजात, आधे घंटे तक देखने नहीं आए डॉक्टर

एसएनएमएमसीएच में इमरजेंसी के बाहर सोमवार को एक दिन का नवजात बच्चा एंबुलेंस में ऑक्सीजन के सहारे सांसें ले रहा था। पिता प्रमोद तूरी बार-बार डाॅक्टराें से बच्चे काे देख लेने की मिन्नतें कर रहा था, लेकिन इमरजेंसी में माैजूद डाॅक्टर बच्चे की सुध लेने बाहर नहीं निकले। रविवार की देर रात बच्चे का जन्म टीसीएस जामाडाेबा में हुआ था।

जन्म के बाद बच्चे काे सांस लेने में दिक्कत और बुखार था। अस्पताल से बच्चे काे एसएनएमएमसीएच रेफर किया गया। बच्चे की हालत बेहद नाजुक थी। मां गोद में बच्चे काे लिए आधे घंटे से अधिक समय तक डाॅक्टर की आस देखती रही। इसी समय इमरजेंसी में मारपीट के एक मामले में घायलाें काे देखने कुछ कांग्रेसी पहुंचे।

जानकारी मिलने पर कांग्रेसियों ने हंगामा किया तो डॉक्टर देखने पहुंचे। अस्पताल अधीक्षक डाॅ एके वर्णवाल ने बताया कि इमरजेंसी में डाॅक्टराें ने बच्चे काे देखा था। बच्चा सीरियस था, इसलिए परिजन चाह रहे थे कि काेई सीनियर डाॅक्टर भी देखे। फिर पेडियाट्रिक एचओडी काे भी बच्चे को देखने भेजा था।

खबरें और भी हैं...