पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • Rain Water Used To Flow From Belmi Hill, Forest Department Stopped Water Flow By Making 3 Check Dams, Now 50 Acres Of Fields Will Be Irrigated

वन विभाग की सार्थक पहल:बेलमी पहाड़ी से बहता था बारिश का पानी, वन विभाग ने 3 चेकडैम बना कर रोक दी पानी की धार, अब 50 एकड़ खेतों में होगी सिंचाई

गाेमाे6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पहाड़ी से आ रहे पानी को संचय कर बर्बाद होने से बचाया, 4 टोलों में लहलहाएगी फसल

बेलमी पहाड़ी... इस पहाड़ी से पानी की पतली धार बहती रहती। बरसात के दिनों में पानी का प्रवाह तेज जाता। आसपास के 4 टोले को लोग इस बर्बाद होते पानी को देख अफसोस करते। सोचते... काश, यह पानी उनके खेतों के काम आ जाता। सिंचाई के अभाव में सूख रहे खेतों में जान आ जाती। गांव वालों के इस सपने को वन विभाग ने जमीन पर उतार दिया है। गांव वालों की मांग पर वन विभाग ने पहाड़ी पर सर्वे करा कर 3 चेकडैम बनाए। इन चेकडैमों ने तस्वीर बदल दी। तीनों चेकडैम लबालब भरा हुआ है।

बर्बाद हो रहा पानी का एक-एक बूंद संचय हो गया है। इन चेकडैमों में उपलब्ध पानी से 50 एकड़ खेतों की सिंचाई हो जाएगी। आसपास के 4 टोलों की पैदावर बढ़ेगी। यही नहीं, सब्जी की खेती को एक नया आयाम मिलेगा। ग्रामीण तथा कैटल गार्ड काेकिल महताे ने बताया कि तोपचांची प्रखंड के चार टोलों के किसान चेकडैम में भरे पानी को देखकर खुश हैं। उन्हें उम्मीद है कि अब पानी की कमी में उनकी फसल नहीं बर्बाद होगी। गर्मी के दिनों में भी वे सिंचाई कर सकेंगे।

ये 2 चुनौतियां थीं चेकडैम बनाने में...

बेलमी पहाड़ी की 200 फीट की ऊंचाई : वन विभाग ने बताया कि बेलमी गांव से बेलमी पहाड़ी की ऊंचाई करीब 200 फीट है। ऊंचाई अधिक होने के कारण पहाड़ी पर चेकडैम का निर्माण आसान नहीं था। पहले सर्वे कराया गया। सर्वे के दौरान चेकडैम निर्माण की रणनीति बनाई गई।

बगजोबरा नाला : पहाड़ी का पानी एक नाले के रास्ते बह रहा था। ग्रामीण इस नाले को बगजोबरा नाला कहते हैं। ग्रामीणों ने बताया कि इस नाला से पानी की पतली धार सालभर बहती थी, पर बारिश की दिनों में धार तेज हो जाती थी। पहाड़ी से उतर रही इस धार को रोकना आसान नहीं था।

पूर्व में था चेकडैम, पर वह सूख जाता था

बेलमी में वन विभाग ने पूर्व में एक चेकडैम बनाया था। यह चेकडैम पहाड़ी से नीचे बनाया गया था। बारिश के दिनों में चेकडैम में पानी रहता था, पर गर्मी में वह सूख जाता था। ऐसी स्थिति में इस चेकडैम का लाभ किसानों को नहीं मिल पाता था। ग्रामीणों ने इस स्थिति से वन विभाग को अवगत कराया और पहाड़ी पर चेकडैम बनाने की मांग की। वन विभाग के रेंजर एके मंजूल ने गांव वालों के कहने पर पहाड़ी पर जाकर चेकडैम बनाने की संभावना तलाशी। तीन माह में विभाग ने पहाड़ी पर चेकडैम बना दिया।

तीनों चेकडैम में लबालब पानी, मेहनत सफल रही

ग्रामीणाें ने पहाड़ी से आ रही पानी की धार के बारे में मुझे बताया था। तब हमने इसका सर्वे किया और इस याेजना काे मूर्त रूप दिया। आज इन तीनाें चेकडैम में पानी लबालब भरा हुआ है। इसे देखकर लगता है कि हमारी मेहनत कामयाब हाे गई है।
- एके मंजूल, रेंज अधिकारी, ताेपचांची

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज उन्नति से संबंधित शुभ समाचार की प्राप्ति होगी। धार्मिक और आध्यात्मिक कार्यों में भी कुछ समय व्यतीत होगा। किसी विशेष समाज सुधारक का सानिध्य आपके अंदर सकारात्मक ऊर्जा उत्पन्न करेगा। बच्चे त...

और पढ़ें