राहत की आस:अंडरपास के लिए राइट्स जल्द साैंपेगी डीपीआर दो ओवरब्रिजों की संभावना पर भी होगा विचार

धनबाद2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिला प्रशासन और धनबाद रेल मंडल के बीच जाम से मुक्ति समेत कई मुद्दाें पर हुई चर्चा, तय हुआ

धनबाद शहर काे जाम से मुक्ति दिलाने के लिए जिला प्रशासन और धनबाद रेल मंडल ने शनिवार काे महत्वपूर्ण मुद्दाें पर चर्चा की। डीसी संदीप िसंह की अध्यक्षता में डीआरएम ऑफिस में हुई बैठक में गया पुल के पास अतिरिक्त अंडरपास बनाने के लिए रेलवे की तकनीकी विंग राइट्स काे जल्द डीपीआर साैंपने का निर्देश दिया गया। तय हुआ कि फिजिबिलिटी स्टेटस रिपोर्ट देखकर जल्द निर्माण शुरू कराने पर निर्णय लिया जाएगा। साथ ही, विकल्प के ताैर पर मटकुरिया और झरिया पुल के पास से फ्लाईओवर के निर्माण की संभावना पर भी चर्चा हुई।

बिजली के केबल रेलवे लाइन की एक तरफ से दूसरी तरफ ले जाने के लिए संबंधित पदाधिकारियाें काे जल्द एनआसी देने का निर्देश दिया गया। बैठक में रेलवे की ओर से डीआरएम आशीष बंसल, एडीआरएम एके महथा, सीनियर डीसीएम एके पांडेय, वरीय मंडल इंजीनियर अमित कुमार, कार्मिक पदाधिकारी जेपी सिंह और जिला प्रशासन की ओर से एडीएम लाॅ एंड ऑर्डर डाॅ कुमार ताराचंद, नगर आयुक्त सत्येंद्र कुमार, एसी श्याम नारायण राम, डीसीएलआर सतीश चंद्रा भी शामिल हुए।

1. गया पुल के पास दूसरे अंडरपास का निर्माण | डीपीआर की वजह से अंडरपास का मामला साल 2019 से लटका हुआ है। इसकी बड़ी वजह जिला प्रशासन और रेलवे के बीच समन्वय का अभाव है। निर्णय लिया गया कि जिला प्रशासन और रेल मंडल प्राथमिकता के आधार पर राइट्स कंपनी के साथ समन्वय स्थापित कर डीपीआर बनवाएं, ताकि निर्माण जल्द शुरू हाे सके।

2. झरिया पुल के पास से ओवरब्रिज का निर्माण | झरिया पुल के पास ओवरब्रिज के निर्माण के लिए स्टेट हाइवे अथाॅरिटी ऑफ झारखंड ने साल 2014 में प्रस्ताव तैयार कर धनबाद रेल मंडल काे साैंपा था। डीसी ने कहा कि बैठक में इस मुद्दे पर भी चर्चा हुई। रेलवे से कहा गया है कि वह ओवरब्रिज के निर्माण की संभावना पर विचार करे।

3. मटकुरिया चेकपाेस्ट से बिनाेद बिहारी चाैक तक नई सड़क | जाम से मुक्ति के लिए तीसरे विकल्प के ताैर पर मटकुरिया के पास से भी ओवरब्रिज के निर्माण पर चर्चा हुई। नगर निगम ने साल 2019 में इस संबध में रेलवे काे प्रस्ताव दिया था। 125 कराेड़ रुपए की याेजना भी बनी थी। मटकुरिया चेेकपाेस्ट से वासेपुर हाेते हुए बिनाेद बिहारी चाैक तक सड़क बनाने की याेजना थी।

गुड्स सेल के चालान के बिना धनबाद रेल मंडल में नहीं हाेगी काेयले की लाेडिंग
काेयला खनन और लाेडिंग के मुद्दाें पर भी बैठक में चर्चा हुई। तय हुआ कि धनबाद रेल मंडल के गुड्स सेल के चालान के बिना काेयले का उठाव नहीं किया जाएगा। डीसी ने कहा कि बगैर ट्रांसपोर्ट चालान के 1 किलो कोयला भी सार्वजनिक रास्तों पर नहीं भेजा जाए। अनियमितता पाए जाने पर झारखंड मिनरल प्रोटेक्शन एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी। डीआरएम ने भी संबंधित पदाधिकारियों को अविलंब इस मुद्दे का हल निकालने का निर्देश दिया।

लोको तालाब और पंपू तालाब का हाेगा साैंदर्यीकरण, रेलवे से मांगा गया एनओसी
बेकारबांध की तर्ज पर लोको तालाब व पंपू तालाब के साैंदर्यीकरण पर भी विचार-विमर्श हुआ नगर आयुक्त ने दाेनाें तालाबाें काे विकसित करने के लिए रेलवे से एनओसी मांगा। डीआरएम ने संबंधित पदाधिकारी काे अविलंब एनओसी जारी करने का निर्देश दिया।

ये महत्वपूर्ण निर्णय भी हुए

  • गोपालीचक, करकेन्द, कालूबथान, चिरकुंडा एवं शमशेरनगर जामाडोबा में बिजली क्रॉसिंग करने हेतु जल्द साइट फाइनल हाेगी।
  • रेलवे और आरसीडी समन्वय स्थापित कर प्रधानखांटा से पाथरडीह रेल लाइन के छाताकुल्ही में अवैध लेवल क्रॉसिंग का मामला सुलझाया जाएगा।
  • गोमो आरओबी का एप्रोच रोड पूरा करने और गोमो ओवरब्रिज के लिए भू-अर्जन जल्द पूरा करने का निर्देश दिया गया।
  • रेलवे कॉलोनी में एलईडी स्ट्रीट लाइट की हाेगी मरम्मत।
खबरें और भी हैं...