पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जबरदस्त जज्बा:बहाली का इंतजार कर रहे युवाओं का ओजस्वी दावा, हैं तैयार हम

सिजुआ8 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
सेना की ही तर्ज पर कड़ी ट्रेनिंग ले रहे ग्रामीण युवक - Dainik Bhaskar
सेना की ही तर्ज पर कड़ी ट्रेनिंग ले रहे ग्रामीण युवक
  • मिट्टी, बालू, पानी और आग के बीच सेना की ही तर्ज पर कड़ी ट्रेनिंग ले रहे ग्रामीण युवक

सुदूर ग्रामीण इलाकों के युवाओं में सेना में जाने का जबरदस्त जज्बा है। इसके लिए वे जमकर पसीना भी बहा रहे हैं। युवा जज्बे व देशसेवा के लिए सेना में जाने के सपने को पंख लगाने के लिए कपुरिया के ग्रामीण फिजिकल ट्रेनिंग सेंटर में हर वे ट्रेनिंग कर रहे हैं, जो सेना बहाली में जरूरी होती हैं। ट्रेनिंग सेंटर खुले मैदान में संचालित है, लेकिन यहां युवाओं को डिफेंस सेक्टर की हर गतिविधियों का प्रशिक्षण दिया जाता है। नि:शुल्क सेंटर में इन्हें सेना के लिए तैयार किया जा रहा है।

प्रशिक्षण भी ऐसा कि कोई शारीरिक क्षेत्र में अयोग्य साबित न हो। मैदान, सड़क, पानी, आग, बालू हर जगह युवाओं को प्रशिक्षित किया जा रहा है। सेंटर देख सेना के कैंप का अहसास होता है। नदियों में दौड़ना तो कभी बालू में, कभी पानी में डूबकर सांस रोकना तो कभी टायर में लगी आग के बीच कूदकर पार करना, रस्सी के सहारे ऊपर चढ़ना, इसमें वे पारंगत हो रहे हैं।मैदान और सड़क पर लंबी दूरी तय करना दिनचर्या है। रस्सी के सहारे ऊपर चढ़ना, टायर में लगी आग के बीच कूदकर इस पार से उस पार जाना, ट्रेनिंग का प्रतिदिन का हिस्सा है।

टाटा स्टील के पूर्व धावक ने नि:शुल्क शुरू किया सेंटर

ग्रामीण फिजिकल ट्रेनिंग सेंटर की शुरुआत श्रेय जाता है टाटा स्टील के पूर्व धावक रंजीत दसौंधी को। सेवानिवृत्त होने के बाद वर्ष 2020 के अप्रैल माह से सेंटर की शुरुआत की। वे अपना पूरा समय युवाओं को सेना के लायक बनाने में लगा रहे हैं। प्रशिक्षण के साथ सेंटर का सारा खर्च भी यही उठाते हैं। सेंटर में फिलहाल 50 से 70 युवा प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं। यह सेंटर किसी आर्मी कैंप से कम नहीं है। सेंटर में फिलहाल 5 किमी क्षेत्र के गांव कपुरिया, भेलाटांड़, महुदा, देवग्राम, पतराकुल्ही, लाल बंगला, सिंगड़ा, रामपुर आदि इलाके के युवा नियमित रूप से आ रहे हैं। हमारी कोशिश है कि ग्रामीण युवक ज्यादा से ज्यादा सेना में जाकर देशसेवा करे।

अपूर्ण कागजात के कारण सेना में जाने से रहे वंचित

25 फरवरी को रांची में आर्मी रैली में सेंटर के 4 प्रशिक्षण प्राप्त युवाओं ने फिजिकल परीक्षा पास किया है। हालांकि निर्धारित समय तक कागजात अपूर्ण रहने के कारण इन्हें मौका नहीं मिल पाया।

खबरें और भी हैं...