पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गड़बड़ी:सर्वर में गलत मीटर यूनिट रीडिंग डाल कर उपभाेक्ता काे थमाया 45 हजार का बिल...हर माह औसत 600 रुपए का आता था बिल, गड़बड़ी के बाद 8 गुना बढ़ी बिजली बिल की राशि

धनबाद8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ऊर्जा मित्र द्वारा गलत बिलिंग कर लाेगाें से पैसे की मांग करने का एक और मामला सामने आया है। इस बार गाेविंदपुर डिवीजन अंतर्गत आमटाल के रहने वाले सुरेंद्र कुमार ओझा के घर पहुंचे ऊर्जा मित्र ने सर्वर में गलत मीटर यूनिट की रीडिंग डाल 45 हजार रुपए का बिल उन्हें थमा दिया। जबकि, हर महीने उन्हें 600 से 800 रुपए के बीच बिजली बिल आता है। बिजली बिल कम कराने के एवज में ऊर्जा मित्र ने सुरेंद्र से पैसे की मांग की है। मीटर डिफेक्टिव बता बिजली बिल कम करने का दावा ऊर्जा मित्र ने किया है। सुरेंद्र ने इसकी शिकायत जेबीवीएनएल सबडिवीजन कार्यालय में की है।

गलत यूनिट डाल बनाते हैं बिल, फिर डिफेक्टिव बता कम कराने का हाेता है खेल

ऊर्जा मित्र पहले ताे बिलिंग सर्वर में मीटर रीडिंग का गलत यूनिट डाल बिजली का बिल जनरेट करते हैं। जाे वास्तविक खपत से कई गुणा अधिक हाेता है। बाद में बिल की राशि कम कराने के नाम पर लाेगाें से पैसे की मांग करते हैं। डील हाेने पर अगले माह की बिलिंग में मीटर डिफेक्टिव बता बिजली बिल निकाला जाता है।

जानिए, किस तरह ऊर्जा मित्र पहुंचा रहे जेबीवीएनएल काे आर्थिक नुकसान |500 यूनिट खपत पर भी 110 यूनिट का भुगतान डिफेक्टिव मीटर पर बिल जनरेट हाेने पर लाेगाें काे सिर्फ 110 यूनिट के पैसे का भुगतान करना पड़ता है। यानी, अगर आपने ज्यादा बिजली की खपत की है, फिर भी आपका बिल 110 यूनिट की दर से जनरेट हाेगा। जेबीवीएनएल के अफसराें काे शक है कि हर महीने 400 से 500 यूनिट बिजली की खपत करने वाले ऊर्जा मित्र की मदद से मीटर को डिफेक्टिव बता 110 यूनिट पर भुगतान कर रहे हैं।

मामले काे लेकर जांच शुरू कर दी गई है। जांच में किसी प्रकार की गड़बड़ी की बात सामने आने पर ऊर्जा मित्र के साथ उपभाेक्ता पर भी कार्रवाई की जाएगी। जिन लाेगाें का डिफेक्टिव मीटर पर बिल जनरेट किया गया है। उनकाे हर-हाल में मीटर बदल नया लगाना हाेगा।''
प्रताेष कुमार, जीएम, जेबीवीएनएल, धनबाद

खबरें और भी हैं...