• Hindi News
  • Local
  • Jharkhand
  • Dhanbad
  • The Son, Who Was Cremating The Mother, Received The News Of The Death Of The Father, Both Lost Their Life Due To Not Getting Ventilator

मौत की खबर:मां का अंतिम संस्कार कर रहे बेटे को मिली पिता की मौत की खबर, वेंटिलेटर न मिलने से गई दोनों की जान

धनबाद6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • स्वास्थ्य व्यवस्था और मानवता को आईना दिखातीं 2 खबरें : राजगंज में शव उठाने नहीं अाया कोई, एसएनएमएमसीएच में वेंटिलेटर नहीं मिलने से दंपती की मौत

कोरोना ने बेकारबांध स्थित एक अपार्टमेंट में रहनेवाले बैंककर्मी वीरेंद्र प्रसाद (52) और पत्नी कंचन प्रसाद (50) की सांसें रोक दीं। दिन के 12:30 बजे पत्नी की मौत हो गई। पत्नी की चिता अभी जल ही रही थी, तभी शाम 5.30 बजे मिशन हॉस्पिटल, दुर्गापुर ले जाते समय पति ने भी दम तोड़ दिया।

अस्पताल में भर्ती दंपती के कम हो रहे ऑक्सीजन लेवल को देखते हुए डॉक्टरों ने वेंटिलेटर की जरूरत बताई थी, लेकिन अस्पताल में वेंटिलेटर खाली नहीं मिला। पहले पत्नी की मौत हुई। वीरेंद्र के लिए मिशन हॉस्पिटल मं वेंटिलेटर बेड की व्यवस्था हुई। शाम 5 बजे वीरेंद्र को लेकर उनके मित्र दुर्गापुर निकले, पर रास्ते में ही मौत हो गई। इस दौरान मां का अंतिम संस्कार कर रहे बेटे निशांत को इसकी सूचना दी गई। उसके बाद बेटे को पिता का अंतिम संस्कार करना पड़ा।

10 दिन पहले पति-पत्नी दोनों ने लिया था वैक्सीन का पहला डोज

10 दिन पहले दंपती ने कोरोना से बचने के लिए वैक्सीन का पहला डोज लिया था। इसके बाद से ही दोनों की तबीयत बिगड़ने लगी। इलाज कराने लगे, पर हालात सुधारने के बजाय बिगड़ती चली गयी। सांसे फूलने लगीं, दोनों का ऑक्सीजन लेवल कम होता चला गया। परिवार में सिर्फ एक बेटा और एक बेटी हैं। बहुत मुश्किल से दोनों को एसएनएमएमसीएच में बेड मिले थे।

खबरें और भी हैं...