कोरोना की कड़ी-दर-कड़ी:इस बार रेल कर्मचारियों की चेन सबसे लंबी 61 संक्रमित; सीआईएसएफ दूसरे नंबर पर

धनबाद19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पहली लहर में डॉ साहा व दूसरी में हीरापुर के कारोबारियों की थी कोरोना की सबसे लंबी चेन
  • बाहर से आने वाले यात्रियों और ऑफिस आने वाले लोगों से संक्रमित हुए रेलकर्मी
  • डीआरएम, एडीआएम समेत कई अधिकारी समेत रेलकर्मी व उनके परिजन हुए पॉजिटिव

कोरोना की पहली लहर में डॉ एसएस साहा और दूसरी लहर में कोलकाता से व्यापारिक संबंध रखने वाले हीरापुर के व्यवसायियों की चेन सबसे लंबी थी। इस बार कोरोना की सबसे लंबी चेन रेलवे से बनी है। अब तक डीआरएम, एडीआरएम, सीनियर डीईएन समेत 61 रेल अधिकारी व कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव मिल चुके हैं। कई रेलकर्मी रेलवे अस्पताल और एसएनएमएमसीएच कैथलैब में इलाजरत हैं, जबकि कई होम आइसोलेशन में हैं।

अब तक धनबाद में किसी भी लहर में इतनी बड़ी चेन नहीं बनी थी। पहली लहर के दौरान धनबाद में संक्रमण की सबसे लंबी चेन डा साहा की क्लिनिक से बनी थी। क्लिनिक में आए 46 लोग संक्रमित पाए गए थे, जबकि दूसरी लहर में बंगाल से लौटे हीरापुर के व्यवसायियों ने धनबाद में कोरोना संक्रमण की चेन को बढ़ाया था। हीरापुर में 36 दुकानदार पाए गए थे।

इस कारण रेलकर्मी हुए सबसे ज्यादा संक्रमित

स्टेशनों में तैनात कर्मी जहां बाहर से आने वाले यात्रियों के संपर्क में आए, वहीं मंडल रेल कार्यालय में भी बाहरी लोगों का आना-जाना लगा रहता है। इस कारण रेलवे में कोरोना का विस्फोट हुआ।

सतर्कता, कार्यालयों में 50% उपस्थिति का आदेश

रेलवे ने गाइडलाइन जारी की है। कार्यालयाें में अब अधिकतम 50 प्रतिशत की उपस्थिति रहेगी। वर्क फ्रॉम हाेम, सेनेटाइजर, मास्क, साेशल डिस्टेंस आदि का कड़ाई से अनुपालन कराने का आदेश दिया है।

दूसरी बड़ी चेन : सीआईएसएफ के 34 जवान पॉजिटिव, दूसरे राज्यों से लौटे थे

धनबाद में दूसरी सबसे बड़ी चेन सीआईएसएफ में मिली। अब तक 34 जवान कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। जांच में पता चला है कि ज्यादातर संक्रमित जवान अलग-अलग राज्यों से छुट्टी बिताकर वापस लौटे थे। कोरोना के हल्के लक्षण पाए जाने के बाद टेस्ट में संक्रमित मिले। 34 जवानों की टेस्ट रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी, जिनमें 8 निगेटिव हो चुके हैं। डीआईजी विनय काजला ने बताया कि एहतियात बरते जा रहे हैं।

तीसरी बड़ी चेन, एसबीआई के रीजनल मैनेजर समेत 7 कर्मचारी हुए संक्रमित

एसबीआई के रीजनल मैनेजर कोरोना संक्रमित हुए थे। उनके संपर्क में आये अधिकारियों और कर्मियों की जांच में दो ब्रांच के 7 और कर्मी संक्रमित पाए गए। अब ब्रांचों में कर्मियों और ग्राहकों को थर्मल स्कैनिंग और हाथों को सेनेटाइज करने के बाद ही एंट्री दी जा रही है। हालांकि निर्देशों की अनदेखी भी दिख रही है।

खबरें और भी हैं...