पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

टेंडर जल्द:सदर अस्पताल व एसएनएमएमसीएच में बनेंगे दो बड़े ऑक्सीजन प्लांट, हर घंटे 120 हजार लीटर प्रोडक्शन

धनबाद22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
तीसरी लहर काे देखते हुए बडे़ प्लांट के निर्माण का निर्णय - Dainik Bhaskar
तीसरी लहर काे देखते हुए बडे़ प्लांट के निर्माण का निर्णय
  • दिल्ली की कंपनी बनाएगी एसएनएमएमसीएच में प्लांट, सदर अस्पताल का टेंडर जल्द

काेराेना की तीसरी लहर में ऑक्सीजन की डिमांड काे देखते हुए सदर अस्पताल और एसएनएमएमसीएच में बड़े ऑक्सीजन प्लांट का निर्माण किया जाएगा। डीसी उमा शंकर सिंह का कहना है कि सदर अस्पताल और एसएनएमएमसीएच में 1000-1000 एलएमपी क्षमता के बड़े ऑक्सीजन प्लांट बनाए जाएंगे। प्रत्येक प्लांट एक घंटे में 60000 लीटर ऑक्सीजन प्राेडक्शन करेगा।

सदर अस्पताल और कैथ लैब में पाइप लाइन के माध्यम से ऑक्सीजन सप्लाई की जाएगी। दाेनाें प्लांट डीएमएफटी फंड से बनाया जाएगा। एसएनएमएमसीएचके प्लांट का टेंडर लगभग फाइनल है। निविदा समिति ने दिल्ली की कंपनी नरुला उद्याेग इंडिया का चयन किया है। एक महीने में इसका निर्माण पूरा हाे जाएगा। वहीं सदर अस्पताल में प्लांट का टेंडर जल्द ही प्रकाशित कर दिया जाएगा। यहां सिंदरी हर्ल कंपनी भी 18-18 हजार प्रति घंटे उत्पादन वाले दो ऑक्सीजन प्लांट बनवा कर दे रही है।

तीसरी लहर काे देखते हुए बडे़ प्लांट के निर्माण का निर्णय

डीसी का कहना है कि काेराेना की संभावित तीसरी लहर काे देखते हुए सदर अस्पताल में 20 बेड और कैथलैब में 30 बेड का बच्चाें के लिए पीआईसीयू बेड तैयार किया जा रहा है। कैथलैब के फर्स्ट फ्लाेर पर भी 50 तथा सेकेंड फ्लाेर पर 100 आईसीयू बेड बन रहा है। सदर अस्पताल में पहले से 60 और कैथलैब में 30 आईसीयू बेड हैं। इसके लिए वृहद पैमाने पर ऑक्सीजन की जरूरत पड़ेगी।

अन्य अस्पतालाें में भी सप्लाई

डीसी का कहना है कि सदर अस्पताल और एसएनएमएमसीएच में बननेवाला ऑक्सीजन प्लांट बड़े हैं। जरूरत पड़ने पर दाेनाें प्लांट से सिलेंडरों में ऑक्सीजन रीफिलिंग कर अन्य अस्पतालाें में भेजी जाएगी।

खबरें और भी हैं...