शिक्षकों की मांग:विभावि दो वर्ष में मिले 45 शिक्षक, बीबीएमकेयू ने मांगा अपना हिस्सा

धनबाद14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जेपीएससी की ओर से वर्ष 2018 में विज्ञापन जारी करते हुए राज्य सभी विवि से उनके काॅलेजों में शिक्षकों की रिक्त पदों के लिए बैकलाॅग शिक्षकों की नियुक्ति की गई थी। उसके आधार पर वर्ष 2020 में विनोबा भावे विश्वविद्यालय को 21 व वर्ष 2021 में 24 शिक्षक दिया गया था। दरअसल जेपीएससी की ओर से जब रिक्त पदों की अधीयाचना की मांग की गई थी, उस वक्त बीबीएमकेयू अस्तित्व में नहीं था। इस वजह से बीबीएमकेयू के अधीन संचालित 10 अंगीभूत काॅलेजों की रिक्तियों का भी अधीयाचना विभावि हजारीबाग की ओर से ही भेजा गया था। उस दौरान विभावि की ओर से कुल 19 अंगीभूत काॅलेजों की रिक्तियों के आधार पर जेपीएससी को अधीयाचना भेजा गया था।

इनमें वर्तमान में विभावि के पास 9 और बीबीएमकेयू के पास 10 काॅलेज है। ऐसे में जेपीएससी की ओर से विभावि को मिले शिक्षकों में बीबीएमकेयू का 50 प्रतिशत से अधिक पर हक है। जबकि विभावि की ओर से वर्ष 2020 में बहाल 21 में से मात्र 6 शिक्षक ही बीबीएमकेयू को उपलब्ध करवाया गया था।

वर्ष 2021 में मिले 24 में से एक भी शिक्षक बीबीएमकेयू को नहीं मिला है। इस संबंध में बीबीएमकेयू के रजिस्ट्रार डाॅ धनंजय कुमार सिंह ने विभावि के रजिस्ट्रार को पत्र लिख कर जेपीएससी की ओर से वर्ष 2020 व 2021 में विभावि को उपलब्ध करवाए गए शिक्षकों में से बीबीएमकेयू के 10 अंगीभूत काॅलेजों की अधियाचना के आधार पर शिक्षकों की मांग की है।

खबरें और भी हैं...