पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जागरूक:नक्सल इलाकों में कोरोना के प्रति लोगों को जागरूक कर रहा दीपक फाउंडेशन

पारसनाथ6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • टेली मेडिसिन व चल चिकित्सा वाहन के जरिए लोगों को मिल रहा

नक्सल प्रभावित क्षेत्र पीरटांड़ की एक बड़ी आबादी को अब भी पता नहीं है कि कोरोना क्या है। ऐसे लोगों के बीच दीपक फाउंडेशन की ओर से जागरूकता फैलाई जा रही है। कोरोना एक वायरस है और वह लोगों को किस तरह अपनी चपेट में ले रहा है, इससे लोगों को कैसे बचना है। ये सब जानकारी सुदूर इलाके के लोगों को बताई जा रही है। खासकर आदिवासी बाहुल इलाके के लोग जो इससे बिल्कुल अनभिज्ञ थे, उन्हें जागरूक किया जा रहा है। साथ ही बाहर से लौटे प्रवासियों को भी सुरक्षा के तमाम मानदंडों से रूबरू कराया जा रहा है। क्योंकि बाहर से लौटने वाले कई प्रवासी मजदूर ऐसे हैं, जिन्हें होम कोरेंटाईन व सोशल डिस्टेंस का पता नहीं है। सेनेटाईजर व मास्क क्या होता है और इसका इस्तेमाल कैसे किया जाना है, ये भी उन्हें नहीं पता है। लिहाजा स्वास्थ्य विभाग द्वारा जांच की औपचारिकता को ही वे खुद को कोरोना मुक्त मान रहे हैं और होम कोरेंटाईन का मतलब घर में परिवार के साथ रहना समझ बैठे हैं। वैसे लोगों को घर-घर जाकर दीपक फाउंडेशन के कर्मी उन्हें समझा रहे हैं। मास्क व सेनिटाईजर देकर उसके इस्तेमाल के तरीके बताए जा रहे हैं। बार-बार साबुन से हाथ धोने से क्या फायदे हैं, उसके बारे में बताया जा रहा है। गौरतलब है कि लॉक डाउन के दौरान कई प्राईवेट अस्पताल व क्लिनिक बंद कर दिए गए हैं। कोरोना के डर से डॉक्टर भी मरीजों के संपर्क में आने से भयभीत हैं। वैसी परिस्थिति में दीपक फाउंडेशन के अधीन संचालित डुमरी रेफरल अस्पताल, मधुबन स्वास्थ्य केन्द्र संचालित है। जो अति नक्सल प्रभावित इलाकों के लिए अहम साबित हो रही है, और 24 घंटे निशुल्क सेवा आम लोगों को दी जा रही है। पारसनाथ व डुमरी क्षेत्र में टेली मेडिसिन द्वारा भी बेहतर चिकित्सा सुविधा बहाल किया गया है। 
ग्रामीणों को बेहतर सुविधा देना उद्येश्य : अभय
फाउंडेशन के कॉर्डिनेटर अभय सहाय ने बताया कि दो माह का अतिरिक्त समय क्षेत्र की जनता को चिकित्सा सेवा मुहैया करवाने के लिए झारखंड सरकार से मिला है। कहा कि इस संस्था द्वारा मधुबन पारसनाथ क्षेत्र में बेहतर चिकित्सा व्यवस्था बहाल करने हेतु संस्था के स्वास्थ्यकर्मी गांव गांव जा कर चल चिकित्सा वाहन द्वारा मरीजों का इलाज करना व दवा देना शुरू किया है। सप्ताह के दो दिन धनबाद के वरिष्ठ चिकित्सकों की टीम द्वारा मधुबन उप स्वास्थ्य केंद्र में ओपीडी करवाया जा रहा है। जिसमे सैकड़ो ग्रामीण लाभन्वित हो रहे हैं। इसके अलावा पारसनाथ क्षेत्र में टेली मेडिसिन व चलचिकित्सा वाहन सुविधा है, गांव में शिविर लगा कर ओपीडी की सुविधा की शुरुआत की गई है। टेली मेडिसिन द्वारा वीडियो कॉलिंग कर गांव के छोटे बच्चों का इलाज कर चिकित्सक द्वारा दवा दी जाती है। साथ ही मधुबन पारसनाथ के सब सेंटर में अब तक 550 तीर्थयात्रियों का इलाज किया जा चुका है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर-परिवार से संबंधित कार्यों में व्यस्तता बनी रहेगी। तथा आप अपने बुद्धि चातुर्य द्वारा महत्वपूर्ण कार्यों को संपन्न करने में सक्षम भी रहेंगे। आध्यात्मिक तथा ज्ञानवर्धक साहित्य को पढ़ने में भी ...

और पढ़ें