आंदोलन / सुविधा की मांग को लेकर प्रवासी मजदूरों ने दिया धरना

X

  • पूर्व नियोजित कार्यक्रम के तहत प्रवासी मजदूरों ने सिरसाय, डोरंडा, भलुटांड़ तथा पचररूखी पंचायत में दिया धरना

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 07:23 AM IST

राजधनवार. पूर्व घोषित कार्यक्रम के तहत मंगलवार को सिरसाय, डोरंडा, भलुटांड़ व पचररूखी पंचायत के प्रवासी मजदूरों ने माले के नेतृत्व में एक दिवसीय धरना दिया। प्रवासी मजदूरों ने हाथों में तख्ती लेकर उनके लिए सरकार द्वारा घोषित अनाज तथा पैसे के साथ स्थानीय स्तर पर क्षमता के अनुसार रोजगार की मांग की। पंचररूखी में नेतृत्व कर रहे माले नेता विनय संथालिया ने कहा कि प्रवासी मजदूरों के लिए केन्द्र और राज्य सरकारों ने टीवी और अखबार में कई योजनाओं की घोषणा की है। किन्तु धरातल पर कोई योजना नजर नहीं आ रही। प्रवासी मजदूर जब लॉकडाउन के दौरान प्रदेशों में फंसे थे उस वक्त भी वहां की सरकार ने भी सुध नहीं ली। जैसे-तैसे कर्ज लेकर या घर से पैसा मंगाकर पैदल चलकर प्रवासी मजदूर अपने गांव पहुंचे और 14 दिनों तक क्वारेंटाइन में भी रहे।

सरकार की घोषणा थी कि क्वारेंटाइन में रह रहे सभी प्रवासी मजदूरों को दस किलो चावल, दो किलो दाल, एक लीटर सरसों तेल व नमक दिया जाएगा। प्रवासियों को विधायक मद से एक हजार तथा राज्य सरकार की ओर से एक हजार की राशि खाते में देने की घोषणा की गई थी। लेकिन यह घोषणाएं धरातल पर लागू नहीं हुई। अपने इन मांगों को लेकर हूल दिवस पर एकदिवसीय धरना देकर सरकार व प्रशासन को अागाह करने का काम किया है कि आनेवाले दिनों में आंदोलन को धारदार बनाएंगे। जिसकी गुंज प्रखंड से लेकर जिला तक सुनाई देगी। वहीं धरना माले प्रखंड सचिव किशोरी अग्रवाल के नेतृत्व में सिरसाय व डोरंडा तथा मुखिया शंकर पासवान के नेतृत्व में भलुटांड़ पंचायत के गोदोडीह में भी आयोजित की गई। मौके पर कृष्णा राम, भिखी यादव, ब्रमदेव राम, पंकज राम, प्रदीप राम, कुलदीप, रामप्रसाद, प्रमोद, पंकज, नरेश, बिरेन्द्र, तयुम, ताज आदि थे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना